Prayagraj: 12 साल के हर्ष दूबे बने एक दिन के लिए ADG प्रयागराज, वजह जान कर हो जाएंगे हैरान

Edited By Imran, Updated: 03 Jul, 2022 02:45 PM

2 year old harsh dubey became adg prayagraj for a day

कहते है कि किस्मत में लिखी हर मुश्किल टल जाती हैं, यदि हो बुलंद हौसले तो मंजिल मिल ही जाती हैं, सिर उठा कर यदि आसमान को देखोगे बार-बार तो गगन को छूने की प्रेरणा मिल ही जाती हैं और ये कहावत प्रयागराज के 12 साल के कैंसर पेशेंट हर्ष दूबे पर सटीक बैठती...

प्रयागराज: कहते है कि किस्मत में लिखी हर मुश्किल टल जाती हैं, यदि हो बुलंद हौसले तो मंजिल मिल ही जाती हैं, सिर उठा कर यदि आसमान को देखोगे बार-बार तो गगन को छूने की प्रेरणा मिल ही जाती हैं और ये कहावत प्रयागराज के 12 साल के कैंसर पेशेंट हर्ष दूबे पर सटीक बैठती है। हर्ष की मदद के लिए ज़िले के  तीन अलग अलग वर्ग से जुड़े लोग फरिश्ते बनकर सामने आए है । हर्ष का हौसला बढ़ाने के लिए एडीजी प्रेम प्रकाश ने बॉडी किट देने के साथ साथ हर्ष को एक दिन का एडीजी प्रयागराज भी बनाया। 
PunjabKesari
हर्ष भी एक वरिष्ठ अधिकारी की तरह आज एडीजी ऑफिस में बैठकर पुलिस व्यवस्था को समझा तो कई डॉक्यूमेंट पर सिग्नेचर करके कार्य रिपोर्ट भी आगे बढ़ाई। उधर कमला नेहरू हॉस्पिटल के मशहूर डॉक्टर और पद्मश्री अवार्ड से सम्मानित डॉक्टर बी पॉल के साथ साथ डॉक्टर राधा रानी घोष और सर्जन डॉक्टर विशाल केवलानी भी मौजूद रहे। शहर के कैंसर सर्जन डॉक्टर की टीम ने हर्ष को आश्वासन दिया कि अब जो भी इलाज उसका होगा वह पूरी तरीके से निशुल्क होगा साथ ही साथ प्रयागराज की मशहूर समाजसेवी पंकज रिज़वानी ने भी हर्ष का हौसला बढ़ाने के लिए कई सामान हर्ष को दिए । हर्ष के पिता शहर में ई-रिक्शा चलाते हैं और इसी खर्चे से अपने परिवार और बेटे की बीमारी का इलाज भी कराते हैं।
PunjabKesari
खास बातचीत करते हुए एडीजी प्रेम प्रकाश ने बताया कि समाजसेवी पंकज रिज़वानी के द्वारा उनको यह सूचना मिली की 12 साल का मासूम हर्ष एक लाइलाज बीमारी से जूझ रहा है, जिसको मदद की दरकार है। ऐसे में हर्ष का इलाज कर रहे डॉक्टर की टीम और एडीजी प्रेम प्रकाश ने फैसला लिया की हर्ष का मनोबल बढ़ाने के लिए कुछ ऐसा कार्य करेंगे जिससे हर्ष गौरवान्वित महसूस करें और इसी के चलते आज एडीजी प्रेम प्रकाश ने हर्ष को 1 दिन का एडीजी बनाया और वह सारे कार्य से लिए गए जो कार्य एडीजी के द्वारा किए जाते हैं।हर्ष का इलाज कर रहे डॉक्टर पॉल ने कहां की कैंसर पेशेंट को हिम्मत हमेशा बनाकर रखनी चाहिए कैंसर लाइलाज बीमारी तो है लेकिन अगर सही से इलाज हो और पेशेंट के अंदर हिम्मत हो तो लाइलाज बीमारी का इलाज भी संभव हुआ है।
PunjabKesari
एडीजी कार्यालय में सीट पर बैठने के बाद कई पुलिस वाले हर्ष को सलामी देते हुए नजर आए ।साथ ही साथ हर्ष ने वायरलेस के जरिए जिले के अलग अलग क्षेत्रो में तैनात पुलिसकर्मियों को दिशा निर्देश भी दिया। हर्ष बकायदा एडीजी की टोपी लगा कर के आफिस पर काम करते हुए नज़र आये। ऐसे में एडीजी प्रेम प्रकाश और कैंसर से पीड़ित हर्ष दुबे से खास बातचीत की हमारे संवाददाता सैय्यद आकिब रज़ा ने

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!