कानपुर हिंसा: पलभर में तितर-बितर हुई भीड़, जब आवाज सुनी- सड़क खाली कर दो वरना जीप चढ़ा दूंगा...

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 04 Jun, 2022 02:00 PM

kanpur violence the constable said  clear the road or else i will

यूपी में शुक्रवार को कानपुर में हुई हिंसा सुर्खियों में है। हालांकि पुलिस की तरफ से ऐसा बताया जा रहा है कि फिलहाल इलाके का माहौल शांत है। इस मामले में कानूनी कार्रवाई लगातार जारी है। मामले में एफआईआर...

कानपुर: यूपी में शुक्रवार को कानपुर में हुई हिंसा सुर्खियों में है। हालांकि पुलिस की तरफ से ऐसा बताया जा रहा है कि फिलहाल इलाके का माहौल शांत है। इस मामले में कानूनी कार्रवाई लगातार जारी है। मामले में एफआईआर में 40 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है। जबकि 1000 अज्ञात लोगों को भी आरोपी बनाया गया। इन आरोपियों पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। उनकी संपत्तियों को जब्त किया जाएगा और बुल्डोजर भी चलेगा। सीएम योगी ने भी इस मामलेे में सख्ती के निर्देश दिए हैं।
PunjabKesari
आखिर कैसे बढ़ गया इतना बवाल? 
भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा की टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार को मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में बंदी का आह्वान था। सुबह से ही नई सड़क, मूलगंज, बेकनगंज, चमनगंज यतीमखाना सहित अधिकांश क्षेत्रों के बाजार बंद थे। दोपहर दो बजे जुमे की नमाज के बाद भारी भीड़ परेड व नवीन मार्केट बंद कराने के लिए उतर आई। दूसरे छोर पर यतीमखाना चौराहे पर भी लोग जुटने लगे। नारेबाजी के बीच भीड़ परेड की तरफ बढ़ी। चंद्रेश्वर हाते के सामने जवाबी पथराव व नारेबाजी शुरू हो गई। उपद्रवी हाते के अंदर घुसने लगे तो तनाव बढ़ गया। बख्शू पियादा मस्जिद, आसपास की इमारतों की छतों से पथराव व पेट्रोल बम चले। गोलियां भी तड़तड़ाईं। इसी दौरान कई उपद्रवी हाते की चौखट तक पहुंच गए। कुछ भीतर भी घुस गए। वहां मौजूद लोगों को पीटने लगे। जिसके बाद दूसरे समुदाय के लोग इकट्ठा हुए और फिर बवाल भड़क गया।

सड़क खाली कर दो वरना जीप चढ़ा दूंगा...
तो वहीं कानपुर में नई सड़क पर बवाल संभालने के लिए पुलिस फोर्स बहुत कम थी पर पांच जांबाजों ने मोर्चा संभाला तो हजारों की संख्या में पथराव-बमबाजी, गोलीबारी करने वाले उपद्रवियों को पीछे हटना पड़ा। हालात बेकाबू होते देख बेकनगंज थाने के सिपाही मुश्ताक खां ने चिल्लाकर कहा कि सड़क खाली कर दो वरना जीप चढ़ा दूंगा। जिस वक्त भीड़ नई सड़क से सद्भावना चौकी की तरफ बढ़ रही थी उस वक्त वहां एसीपी अनवरगंज मोहम्मद अकमल खां के साथ पांच सिपाही मौजूद थे।
PunjabKesari
सिपाही ने उपद्रवियों की ओर तेज रफ्तार में दौड़ा दी जीप
सिपाही मुश्ताक खां ने जीप उपद्रवियों की ओर तेज रफ्तार में दौड़ा दी। पब्लिक एड्रेस सिस्टम पर वह लगातार कहते रहे। ऐसे में भीड़ तितर-बितर हो गई। वह दस बार जीप उपद्रवियों की भीड़ के बीच से चीरते ले गया। मुश्ताक ने बताया कि भीड़ काफी उग्र थी। उन्हें इसके अलावा कुछ और समझ नहीं आया। लोगों को सुरक्षित प्राथमिकता पर थी।

उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए किया लाठीचार्ज 
एसीपी अनवरगंज मोहम्मद अकमल खां मौके पर मौजूद थे। उनके साथ कुछ सिपाही थे। उग्र भीड़ को देखते हुए वह बेकनगंज थाने की जीप के पीछे चार सिपाहियों के साथ दौड़ पड़े। उन्होंने उपद्रवियों से मोर्चा लिया। एसीपी ने मोर्चा संभाला तब तक एडीसीपी ईस्ट राहुल मिठास थोड़ी फोर्स के साथ पहुंच गए। उपद्रवियों को खदेड़ने के लिए फोर्स के साथ मिलकर लाठीचार्ज किया। भीड़ को चमड़ा मंडी वाली गली में पहुंचा दिया था।

ऐसे में बैकअप फोर्स के लिए कंट्रोल रूम को मैसेज मिलने के बाद एक के बाद अधिकारी पहुंचने लगे। भीड़ ने दोपहर में दोबारा पथराव किया तब डीसीपी ईस्ट प्रमोद कुमार मोर्चा संभाल चुके थे। उन्होंने जवाबी कार्रवाई शुरू कराई। तब तक ज्वाइंट सीपी आनंद प्रकाश तिवारी भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने पूरे ऑपरेशन की कमान संभाली। चार बार में फोर्स ने रूट को पार करते हुए सामान्य स्थितियां बनाईं।


 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!