BREKING NEWS: जावेद के घर के अंदर मिले भड़काऊ पोस्टर, मास्टरमाइंट के घर हो रही बुलडोजर की कार्रवाई

Edited By Imran, Updated: 12 Jun, 2022 01:32 PM

demolition notice pasted on the house of mastermind of stone pelters

जिले में पिछले जुमे की नमाज के बाद विरोध के दौरान हुई हिंसा के मामले में PDA ओर से पत्थरबाजों के मास्‍टरमाइंड के घर पर ध्वस्तीकरण का नोटिस चस्पा किया गया है। आज ही कुछ देर बाद ध्वस्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी। वहीं, राजस्व विभाग और दंगाईयों की...

प्रयागराज: विकास प्राधिकरण (पीडीए) ने शहर में शुक्रवार को हुए पथराव के मास्टरमाइंड जावेद अहमद उर्फ जावेद पंप के करेली स्थित मकान को ध्वस्त करने की कार्रवाई रविवार को शुरू कर दी। पीडीए के एक अधिकारी ने बताया कि जावेद के जेके आशियाना, करेली स्थित मकान को ध्वस्त करने के लिए जेसीबी मशीन और भारी संख्या में पुलिस बल सुबह साढ़े दस बजे ही करेली थाना पर पहुंच गए और दोपहर करीब एक बजे ध्वस्तीकरण की कार्रवाई शुरू कर दी गई।

 उन्होंने बताया कि जावेद का मकान पीडीए से नक्शा पास कराए बगैर बनाया गया था जिसके लिए उसे 10 मई, 2022 को नोटिस जारी किया गया था और उसे अपना पक्ष रखने के लिए 24 मई, 2022 की तिथि आबंटित की गई थी। उन्होंने बताया कि निर्धारित तिथि पर जावेद या फिर उनका वकील नहीं आया और ना ही कोई अभिलेख प्रस्तुत किया गया, इसलिए 25 मई को ध्वस्तीकरण आदेश पारित किया गया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय कुमार ने शनिवार को मीडिया को बताया था कि जावेद अहमद को पुलिस हिरासत में लेकर उससे गहनता से पूछताछ की जा रही है जिसके आधार पर अन्य लोगों की गिरफ्तारी की जाएगी। जावेद शुक्रवार को हुए पथराव का मास्टरमाइंड है। 

उल्लेखऩीय है कि प्रयागराज के करेली और खुल्दाबाद इलाके में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुए पथराव के मामले में पुलिस ने 70 नामजद अभियुक्तों और 5000 से भी ज्यादा अज्ञात शरारती तत्वों के खिलाफ 29 गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने घटना के 24 घंटे के भीतर 68 उपद्रवियों को हिरासत में लिया जिसमें चार उपद्रवी नाबालिग पाए गए जिन्हें बाल संप्रेक्षण गृह भेज दिया गया, वहीं 64 उपद्रवियों को सेंट्रल जेल नैनी भेजने का आदेश दिया गया।

जिले में पिछले जुमे की नमाज के बाद विरोध के दौरान हुई हिंसा के मामले में PDA ओर से पत्थरबाजों के मास्‍टरमाइंड के घर पर ध्वस्तीकरण का नोटिस चस्पा किया । 

PunjabKesari
वहीं,  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर हिंसा और इसके बाद विभिन्न जिलों में शुक्रवार को नमाज के बाद हिंसा का संज्ञान लेकर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई ऐसी हो जो असामाजिक तत्वों के लिए एक नजीर बने और माहौल बिगाड़ने के बारे में कोई सोच भी न सके। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को यह कार्रवाई जारी रखने का भी निर्देश दिया ।

मुख्यमंत्री ने शनिवार को प्रदेश भर के जिलाधिकारियों, पुलिस अधीक्षकों, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षकों और शीर्ष पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये कानून—व्यवस्था की समीक्षा की और कहा कि ''हम एक लोकतांत्रिक देश के नागरिक हैं, ऐसे में हमें सभी पक्षों से संवाद बनाए रखना होगा।'' धर्मगुरुओं/सिविल सोसाइटी से सतत संवाद-संपर्क बनाए रखने की हिदायत के साथ योगी ने अधिकारियों से दो टूक कहा कि ''इसके साथ-साथ उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई भी जारी रखी जाए और कार्रवाई ऐसी हो जो असामाजिक सोच रखने वाले सभी तत्वों के लिए एक नजीर बने। माहौल बिगाड़ने के बारे में कोई सोच भी न सके।'' मुख्यमंत्री ने कहा कि शरारतपूर्ण बयान जारी करने वालों के साथ कत्तई बर्दाश्त नहीं की नीति के साथ कड़ाई से पेश आयें । शनिवार को यहां जारी एक सरकारी बयान के अनुसार योगी ने कहा कि विगत दिनों कानपुर, प्रयागराज, सहारनपुर, मुरादाबाद, हाथरस, फिरोजाबाद, अंबेडकर नगर प्रदेश के विभिन्न जिलों में असामाजिक तत्वों द्वारा सामाजिक शांति-सौहार्द के माहौल को बिगाड़ने का प्रयास किया गया।

उन्होंने कहा कि इससे पहले तीन जून को कानपुर में भी ऐसी ही कोशिश की गई थी और तब भी सतर्कता के निर्देश दिए गए थे, जिससे प्रदेश के ज्यादातर जिलों में शांति बनी हुई और यह शांति व्यवस्था चिरस्थायी रहे, इसके लिए सतर्क सावधान रहना होगा। योगी ने पुलिस व प्रशासन की प्रभावी कार्रवाई पर संतोष जताया लेकिन पल पल सतर्क रहने के लिये भी कहा। उन्होंने कहा कि ''यह दुखद है कि साजिशकर्ताओं ने अपने कुत्सित उद्देश्यों के लिए किशोरवय युवाओं को सहारा बनाया, ऐसे में मुख्य साजिशकर्ता की पहचान जरूरी है।'' योगी ने कहा कि ''यह समझना होगा कि असामाजिक तत्वों द्वारा ऐसे प्रयास आने वाले दिनों में फिर से हो सकते हैं, इन लोगों का उद्देश्य प्रदेश में शांति-सौहार्द को बिगाड़ना है, इसलिए हमें एक टीम के रूप में काम करते हुए ऐसी कोशिशों को नाकाम करना होगा।'' उन्होंने जिलों में तैनात अधिकारियों को स्थानीय स्थिति-परिस्थिति को देखते हुए यथोचित निर्णय लेने के निर्देश दिये और कहा कि जिस भी जिलों में आने वाले दिनों में माहौल बिगड़ने की आशंका हो, वहां आवश्यकतानुसार धारा 144 (एक स्थान पर पांच से अधिक व्यक्ति एकत्र न हों) प्रभावी किया जाए।


 

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!