बांदा नाव हादसाः बचाव कार्य के चलते फतेहपुर बॉर्डर से 6 और शव बरामद, 9 हुई कुल मृतकों की संख्या

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 13 Aug, 2022 09:58 AM

banda boat accident 6 more bodies recovered

उत्तर प्रदेश के बांदा में यमुना नदी में नाव डूबने से हुए बड़े हादसे में 35 लोग लापता हो गए थे। जिनकी तलाश में  एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें लगी हुई थी। जिसके चलते कल 3 लोगों के शव बरामद किए गए थे। आज भी सुबह से ही यह तलाश जारी थी..

बांदाः उत्तर प्रदेश के बांदा में यमुना नदी में नाव डूबने से हुए बड़े हादसे में 35 लोग लापता हो गए थे। जिनकी तलाश में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें लगी हुई थी। जिसके चलते कल 3 लोगों के शव बरामद किए गए थे। आज भी सुबह से ही यह तलाश जारी थी, जिसमें 6 और मृतक लोगों के शव फतेहपुर बॉर्डर से पाए गए। इसके साथ ही अब मृतकों की संख्या 9 हो गई है।

 

PunjabKesari

 

बता दें कि यमुना नदी में नाव के डूबने के बाद से ही बचाव कार्य जारी है। इस बचाव कार्य में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें पीएसी की टीम लगी हुई है। इन टीमों के 78 जवानों ने 8 नावों से शुक्रवार तक कुल 14 घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया था। 12 किमी की दूरी तक चप्पे-चप्पे की तलाश की गई। जिसमें 3 शव मिले थे। जिस वक्त नाव डूबी, उसमें 35 लोग सवार थे। गुरुवार रात 11.10 बजे ऑपरेशन जिंदगी नाम से रेस्क्यू शुरू हुआ था। जिसके चलते घाटों पर गोताखोरों को तैनात किया गया है। महेवा, कौशांबी, किशनपुर, फतेहपुर, चित्रकूट में जाल लगाया गया है। आज शनिवार सुबह भी यह कार्य जारी है। जिसमें 6 लोगों के शव बरामद किए गए है। यह शव फतेहपुर बॉर्डर में मिले हैं, जिन्हें बांदा वापस लाया जाएगा।

 

PunjabKesariइसी बचाव कार्य के चलते एनडीआरएफ टीम के कमांडेंट नीरज मिश्रा ने बताया कि, पानी की गहराई 40 से 50 फीट होने के कारण अभी तक किसी की सही लोकेशन का पता नहीं चल पाया है और न ही कोई सही जानकारी अभी तर प्राप्त हुई है। उन्होंने ने बताया कि लोगों से बात करने पर कोई बता रहा है कि नाव नदी के बीचो बीच पलटी है और कोई कह रहा है कि किनारे आते वक्त पलटी है। पानी भी ज्यादा साफ न होने के कारण भी ऑपरेशन में दिक्कत आ रही है। उनके साथ ही DM अनुराग पटेल ने बताया,"NDRF और SDRF की टीम मौके पर मौजूद है और लोकल गोताखोर के साथ, स्टीमर व नाविक भी हैं, जो उन्हें गाइड करेंगे। वहीं केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति शुक्रवार को फतेहपुर के असोथर रामनगर कौहन घाट पहुंची थीं। उन्होंने कहा कि, बांदा प्रशासन ने फतेहपुर प्रशासन का तुरंत सहयोग नहीं लिया। उन्होंने रेस्क्यू के लिए स्टीमर और बड़े जाल को उपलब्ध कराने की मांग की है।
PunjabKesariबता दें कि यमुना नदी में लापता होने वाले लोगों के परिजन घटना के बाद से ही नदी के किनारे बैठे हुए है। उनके साथ ही गांव के लोग भी बैठे रहे। इस लोगों में कोहराम मचा हुआ है। यह लोग रोते बिलखते हुए अपने लापता परिजनों की सलामती की दुआ कर रहे है। 

Related Story

Trending Topics

Australia

146/7

19.5

West Indies

145/9

20.0

Australia win by 3 wickets

RR 7.49
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!