यूपी विधानसभा चुनाव की घोषणा का राजनीतिक दलों ने किया स्‍वागत, अपनी-अपनी जीत के किए दावे

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 09 Jan, 2022 10:06 AM

political parties welcomed the announcement of the up assembly

राजनीतिक दलों ने चुनाव आयोग के शनिवार को उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में विधानसभा चुनाव कराने की घोषणा का स्वागत करते हुए अपनी-अपनी जीत के दावे किये और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर निशाना...

लखनऊ: राजनीतिक दलों ने चुनाव आयोग के शनिवार को उत्तर प्रदेश में 7 चरणों में विधानसभा चुनाव कराने की घोषणा का स्वागत करते हुए अपनी-अपनी जीत के दावे किये और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा। जहां उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने प्रचंड बहुमत से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार बनाने का दावा किया है वहीं राज्‍य की मुख्‍य विपक्षी समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव ने दावा किया है कि 10 मार्च को भाजपा का सफाया होना तय है। बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने चुनाव की तारीख घोषित होने का स्वागत करते हुए आयोग से सत्ताधारी पार्टी के ‘हथकंडों' पर नजर रखने की अपील की है।

कांग्रेस महासचिव और उत्‍तर प्रदेश मामलों की प्रभारी प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा कि 10 मार्च को प्रदेश के नौजवानों, किसानों और महिलाओं की जीत का मार्च होगा। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट किया, ' लोकतंत्र के महापर्व में प्रदेश के चुनाव की तिथियों की घोषणा का स्‍वागत। भारतीय जनता पार्टी डबल इंजन की सरकार की उपलब्धियों के आधार पर जनता जनार्दन के आशीर्वाद से प्रचंड बहुमत की सरकार बनाने में सफल होगी।' समाजवादी पार्टी ने पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव के हवाले से चुनाव की तारीख घोषित होने के बाद उनकी पहली प्रतिक्रिया देने का दावा किया है। 

सपा ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से शनिवार को ट्वीट किया 'किसानों के हित के लिए कोई फैसला नहीं लिया, इसलिए 10 मार्च को भाजपा का साफ होना तय है। 10 तारीख के बाद सपा ने जो संकल्प लिया है, यहां के लोगों को 300 यूनिट बिजली के लिए कोई बिल नहीं आएगा, बिल शून्य होगा।' इसी ट्वीट में पार्टी ने आगे कहा है कि चुनाव के ऐलान होने के बाद माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जी की पहली प्रतिक्रिया। यादव ने मीडिया से कहा ' ये तारीखें बदलाव की हैं। शुरुआत 10 फरवरी से हो रही है और 10 मार्च तक परिणाम आएगा। चुनाव आयोग द्वारा रखी गई शर्तों का पालन किया जाएगा। दस मार्च के बाद भाजपा का साफ होना तय है।'' 

पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने शनिवार को ट्वीट किया 'उत्तर प्रदेश सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव हेतु भारत निर्वाचन आयोग द्वारा आज तिथि की घोषणा का स्वागत। आशा ही नहीं बल्कि पूर्ण विश्वास है कि आयोग यह चुनाव स्वतंत्र, निष्पक्ष, सुचारू व शांतिपूर्वक कराने की अपनी जिम्मेदारी को जन आकांक्षाओं के अनुरूप पूरी मुस्तैदी से जरूर निभाएगा।' बसपा प्रमुख ने लिखा,'खासकर सत्ताधारी पार्टी द्वारा हर चुनाव में नए-नए हथकंडे अपनाकर आदर्श चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करने की प्रवृति घातक रूप से आम होती जा रही है, जिसपर इस चुनाव में पूरी गंभीरता से ध्यान देने एवं तत्परता के साथ उसके विरुद्ध कार्रवाई करने की चुनाव आयोग से खास अपील।' उन्होंने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा 'चुनाव लोकतंत्र का त्योहार है जिसके प्रति खासकर ग़रीब, मजदूर एवं मेहनतकश लोग अति-उत्साहित रहते हैं, उनकी भावना एवं अधिकारों की विशेषकर वोटिंग वाले दिन हर प्रकार से रक्षा जरूर हो। नागरिकों के मताधिकार की रक्षा उनके मूलभूत अधिकार की तरह संविधान की मंशा के अनुरूप हो तो बेहतर।' 

मायावती ने कहा कि बसपा के सभी पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं एवं उम्मीदवारों आदि को भी सख्त निर्देश है कि वे पार्टी अनुशासन के साथ-साथ आज से ही लागू आदर्श चुनाव आचार संहिता का कड़ाई के साथ अनुपालन करें। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने शनिवार को चुनाव की तारीखों की घोषणा होने के बाद ट्वीट किया '' 10 मार्च को उत्तर प्रदेश के नौजवानों, किसानों, महिलाओं, श्रमिकों, व्यापारियों एवं आमजनों की जीत का मार्च होगा।'' उन्होंने आगे कहा '' इन चुनावों में कांग्रेस पार्टी नौजवानों, किसानों, महिलाओं, श्रमिकों, व्यापारियों एवं आमजनों के हकों की लड़ाई लड़ेगी। लड़ेगा, बढ़ेगा जीतेगा यूपी।'' 

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा की 403 सीटें हैं और आयोग ने यहां सात चरणों में मतदान कराने की घोषणा की है जिसकी शुरुआत दस फरवरी से होगी और मतगणना 10 मार्च को होगी। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में राज्य में भाजपा ने 312 और उसके सहयोगियों ने 13 सीटें जीती थीं जबकि सपा को 47, बहुजन समाज पार्टी को 19 और कांग्रेस को सात सीटों पर जीत मिली थीं। भाजपा की सहयोगी अपना दल (एस) को नौ तथा सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) को चार सीटों पर जीत मिली। राष्‍ट्रीय लोकदल और निषाद पार्टी का भी एक-एक सीट पर खाता खुला था। बाकी निर्दलीय भी जीते थे। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!