कांवड़ पर ओवैसी के ट्वीट से सनसनी, कहा-पुलिस चौकी से इंचार्ज का नाम इसलिए हटाया गया क्योंकि वह मुस्लिम था

Edited By Ajay kumar, Updated: 28 Jul, 2022 04:25 PM

sensation by owaisi s tweet on kanwar

AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने आरोप लगाया है कि कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ रुट पर पड़ने वाली मेरठ की एक चौकी से दरोगा का नाम इसलिए हटा दिया गया क्योंकि वो मुस्लिम समुदाय से आते हैं। ओवैसी के आरोप से पुलिस महकमे में खलबली मच गई है।

मेरठ: AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने आरोप लगाया है कि कांवड़ यात्रा के दौरान कांवड़ रुट पर पड़ने वाली मेरठ की एक चौकी से दरोगा का नाम इसलिए हटा दिया गया क्योंकि वो मुस्लिम समुदाय से आते हैं। ओवैसी के आरोप से पुलिस महकमे में खलबली मच गई है। बता दें कि बीती 23 जुलाई को राजस्थान के कुछ कांवड़ियों ने आरोप लगाया था कि मुस्लिम समुदाय के युवक ने उनकी कांवड़ पर थूक दिया है। ऐसे में उनकी कांवड़ खंडित हो गई है। जिसके बाद कांवड़ियों ने जमकर हंगामा किया था। इतना ही नहीं कांवड़ियों ने चौकी के अंदर तोड़फोड़ भी की। चौकी के शीशे, दरवाजे, पंखे, समेत कई चीजें कांवड़ियों के द्वारा तोड़ दी गई थी।


चौकी के अंदर मरम्मत का कार्य चल रहा था इसलिए...एसपी
ओवैसी के ट्वीट पर एसपी सिटी विनीत भटनागर का कहना है क्योंकि चौकी में तोड़फोड़ हुई थी जिसके बाद चौकी के अंदर मरम्मत का कार्य चल रहा था। शायद इसी वजह से नाम वहां से हटा हुआ हो। कांवड़ यात्रा से इसका कुछ भी लेना देना नहीं है।

ओवैसी का आरोप सरासर गलत
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि असदुद्दीन ओवैसी के द्वारा लगाए गए आरोप सरासर गलत है। चौकी इंचार्ज असलम हुसैन का नाम चौकी में मरम्मत कार्य के चलते हटाया गया होगा। चौकी में मरम्मत कार्य निपटने के बाद नाम दोबारा लिखवाया जाएगा। 

गौरतलब है कि AIMIM के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने एक ट्वीट करके सनसनी मचा दी थी। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा था कि क्योकि कांवड़ यात्रा के रास्ते मे पड़ने वाली पुलिस चौकी का इंचार्ज मुसलमान था इसलिए उनका नाम चौकी के नेम प्लेट से मिटवा दिया गया।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!