अग्निपथ योजना को लेकर अखिलेश और मायावती ने भाजपा पर निशाना साधा

Edited By Imran, Updated: 20 Jun, 2022 01:53 PM

akhilesh and mayawati target bjp over agneepath scheme

समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने सेना में भर्ती संबंधी केंद्र की नयी योजना ‘अग्निपथ'' को लेकर सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा।

लखनऊ: समाजवादी पार्टी (सपा) के प्रमुख अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने सेना में भर्ती संबंधी केंद्र की नयी योजना ‘अग्निपथ' को लेकर सोमवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधा।

सपा प्रमुख यादव ने दावा किया कि भाजपा सरकार का चतुर्दिक विरोध दर्शा रहा है कि भाजपा ने जनाधार खो दिया है। वहीं मायावती ने कहा है कि देश की सुरक्षा व फौजी के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान से जुड़ी योजना होने के बावजूद भाजपा नेतागण जिस प्रकार से इस बारे में अनाप-शनाप व अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं वह घोर अनुचित है। यादव ने सोमवार को ट्वीट किया “देश के युवाओं में वर्तमान के प्रति निराशा-हताशा और भविष्य के प्रति आशंका-असुरक्षा का भाव, देश के विकास के लिए घातक साबित होता है। सरकारों का दायित्व देश के वर्तमान को सुधारना व भविष्य को सँवारना होता है।” उन्होंने कहा, “भाजपा सरकार का चतुर्दिक विरोध दर्शा रहा है कि भाजपा ने जनाधार खो दिया है।” 
PunjabKesari
अग्निपथ योजना के विरोध में प्रदेश में युवा आंदोलित हैं और रविवार को गृह विभाग की ओर से जारी बयान के मुताबिक प्रदेश में अग्निपथ योजना के खिलाफ हुए हिंसक प्रदर्शनों के मामले में राज्य के 14 जिलों में अब तक कुल 34 मुकदमे दर्ज किये गये हैं, जबकि 387 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

मायावती ने ट्वीट कर दी नसीहत
 बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष और राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने सोमवार को ट्वीट किया, “केन्द्र की अग्निपथ योजना देश की सुरक्षा व फौजी के आत्म-सम्मान व स्वाभिमान से जुड़ी है, इसके बावजूद भाजपा नेतागण जिस प्रकार से अनाप-शनाप व अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं वह घोर अनुचित है।” इसी ट्वीट में मायावती ने नसीहत दी “जनता में भ्रम व सेना के लिए मुश्किलें पैदा करने वाली संकीर्ण राजनीति तुरन्त बंद हों।” बसपा प्रमुख ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा “ देश को अचंभित करने वाली नई सैन्य भर्ती योजना ‘अग्निपथ' , सरकार द्वारा नोटबन्दी व तालाबन्दी आदि की तरह ही, अचानक व काफी आपाधापी में थोपी जा रही है, जिससे प्रभावित होने वाले करोड़ों युवा व उनके परिवार वालों में खासा आक्रोश है।
PunjabKesari
सरकार इनके प्रति भी अहंकारी रवैये से बचे।” उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार ने 14 जून को ‘अग्निपथ योजना' की घोषणा की जिसके तहत साढ़े 17 साल से 21 साल तक के युवाओं को चार साल के लिए सेना में भर्ती किया जाएगा और उनमें से 25 फीसदी सैनिकों को अगले 15 और साल के लिए सेना में रखा जाएगा। हालांकि बाद में सरकार ने 2022 में भर्ती के लिए अधिकतम आयु सीमा को बढ़ाकर 23 साल कर दिया। इस नयी योजना के तहत भर्ती रंगरूटों को ‘अग्निवीर' कहा जाएगा। 

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!