सहारनपुर हिंसा मामले में 64 गिरफ्तार, सभी पर लगेगा रासुका: SSP तोमर

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 11 Jun, 2022 06:20 PM

64 arrested in saharanpur violence case all will be punished ssp tomar

यूपी के सहारनपुर जिले में शुक्रवार को सहारनपुर नगर और देवबंद में जुमे की नमाज के बाद नारेबाजी और उपद्रव करने के मामले में स्थानीय पुलिस ने अब तक 64 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है। सहारनपुर के...

सहारनपुर: यूपी के सहारनपुर जिले में शुक्रवार को सहारनपुर नगर और देवबंद में जुमे की नमाज के बाद नारेबाजी और उपद्रव करने के मामले में स्थानीय पुलिस ने अब तक 64 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है। सहारनपुर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने शनिवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि इन सभी के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत मुकदमा कायम होगा। इस बीच हिंसा एवं उपद्रव फैलाने वाले आरोपियों की संपत्ति को बुलडोजर से ध्वस्त करने की कारर्वाई भी शुरु हो गयी है।

पुलिस एवं स्थानीय प्रशासन ने बुलडोजर से कोतवाली देहात इलाके की राहत कालोनी निवासी मुजम्मिल पुत्र अस्मत और खाता खेड़ी गांव के रहने वाले अब्दुल वाकर पुत्र विलाल के मकान को बुलडोजर से ध्वस्त कर दिया। तोमर ने बताया कि पुलिस ने हिंसा मामले में सहारनपुर नगर कोतवाली में करीब 300 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। जिनमें से 83 लोग नामजद थे। देवबंद में भी करीब 50-60 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। सहारनपुर देहात पुलिस ने तीन युवकों सादाब, साहिब और बिलाल को गांव शेखपुर कदीम में आज सुबह आपत्तिजनक और भडकाऊ पोस्टर चिपकाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। थानाध्यक्ष मनोज कुमार चहल ने बताया कि तीन गिरफ्तार युवकों समेत छह युवकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। जिनमें सिकंदर, अंजीम और शाहिल की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।        

उन्होंने बताया कि जिले में अब तक 64 उपद्रवियों को गिरफ्तार किया गया है। इनमें उपद्रव वाले सहारनपुर नगर कोतवाली क्षेत्र में 41 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस निरीक्षक अशोक सोलंकी ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज की मदद से उपद्रवियों की पहचान की जा रही है। वारदात के वक्त घंटाघर पर कमिश्नर डा लोकेश एम, आईजी डा. प्रीतिन्द्र सिंह, डीएम अखिलेश सिंह, एसएसपी आकाश तोमर, एसपी सिटी राजेश कुमार आदि मौजूद थे और कई मुस्लिम पार्षदों ने बेकाबू भीड़ को समझाने बुझाने की कोशिश की। इसके बावजूद भीड़ में शामिल अराजक तत्वों ने नेहरू माकेर्ट, प्रताप माकेर्ट और शहीद गंज के बाजारों में पूरी अराजकता फैलाई। जिससे व्यापारियों में डर और दहशत पैदा हो गई।        

इस दौरान धर्मगुरू और विभिन्न दलों के जनप्रतिनिधि स्थानीय लोगों और व्यापारियों से शांति कायम करने की लगातार अपील कर रहे हैं। पुलिस निरीक्षक नगर कोतवाली अशोक सोलंकी ने बताया कि इस मामले में उपद्रवियों के खिलाफ दंड विधान की सुसंगत धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इनमें सात मामले क्रिमिनल एक्ट और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने की धारा 3/4 प्रोपर्टी डेमेज एक्ट के तहत भी दर्ज किये गये हैं। उपद्रव में कम से कम 300 लोग शामिल पाये गये। पुलिस महकमा लगातार सीसीटीवी फुटेज के आधार पर असामाजिक तत्वों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी के लिये दबिश दे रहा है।        

तोमर ने कहा कि इस उपद्रव के पीछे सुनियोजित साजिश या किसी संगठन की भूमिका होने सहित अन्य पहलुओं की भी जांच की जा रही है। उपद्रवियों में ज्यादातर किशोर एवं युवक शामिल हैं। पुलिस के मुताबिक सहारनपुर की जामा मस्जिद और देवबद की रसीदिया मस्जिद में अपनी जेबों से पोस्टर, बैनर, पंपलेट निकालकर हवा में लहराए और माहौल में उत्तेजना पैदा करने की कोशिश की। इस दौरान जमकर नारेबाजी की। पूरे जिले में पुलिस और प्रशासन पूरी तरह से हाई अलर्ट पर था। उन्होंने बताया कि प्रशासन अभी भी इस मामले में सतकर्ता बरत रहा है। पुलिस की गश्त जारी है। उपद्रवियों पर नजर रखी जा रही है। खुफिया विभाग से भी इस दिशा में सक्रिय रहने के निर्देश गए है। तोमर ने कहा कि फिलहाल जिले की स्थिति शनिवार को स्थिति नियंत्रण में, शातिपूर्ण एवं सामान्य है। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!