‘आया देश विक्रेता’ गाने पर भड़के माेदी भक्त, गायक विशाल गाजीपुरी को दे रहे जान से मारने की धमकियां

Edited By Ajay kumar, Updated: 06 Nov, 2020 08:56 PM

threats to kill singer vishal ghazipuri by singing aaya desh vikreta

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भोजपुरी गायक विशाल गाजीपुरी और सपना बौद्ध का गाना ‘आया देश विक्रेता’ इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

यूपी डेस्क: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भोजपुरी गायक विशाल गाजीपुरी और सपना बौद्ध का गाना ‘आया देश विक्रेता’ इन दिनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस गाने काे देशभर में काफी पसंद किया जा रहा है। काफी लोग विशाल गाजीपुरी की तारीफ कर रहे हैं लेकिन प्रधानमंत्री के प्रसंशकों को ये रास नहीं आ रहा है। वह गाने से सख्त नाराज है। यहां तक कि गाने को तुरंत डिलीट करने की धमकियां तक दे रहे हैं। विशाल गाजीपुरी द्वारा जब कहा गया कि वह गाने को नहीं डिलीट करेंगे तो उन्हें जिंदा जलाने, हाथ पैर काटने और जान से मारने की धमकियां तक दे रहे हैं।
 
PunjabKesari

अब तक गायक विशाल गाजीपुरी और सपना बौद्ध को करीब दर्जनभर धमकियां मिल चुकी हैं। लगातार मिल रही धमकियों से परेशान दोनों गायक पुलिस प्रशासन से सुरक्षा की गुहार तक लगा चुके हैं बावजूद इसके कोई सुरक्षा प्रदान नहीं की गई है। पुलिस प्रशासन द्वारा आरोपियों के खिलाफ मामला तो दर्ज कर लिया गया है लेकिन उनके खिलाफ अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कई दिन बीत जाने के बाद भी गाजीपुर पुलिस धमकी दे रहे आरोपियों में से अभी तक किसी को नहीं गिरफ्तार कर पाई है। ऐसे में गायकों पर जान का खतरा और बढ़ गया है। 

PunjabKesari

आरोपियों ने जलाया गायक का जय भीम स्टूडियो 
प्रधानमंत्री पर गाने से आरोपी इतने नाराज हैं कि गायक के जय भीम स्टूडियो को ही रात में फूंक दिया। अपने जलते स्टूडियो से काफी दुखी और परेशान गायक ने रात में ही 112 नंबर पुलिस को फोन किया तो मौके पर पहुंची पुलिस ने इसे शार्ट-शर्किट का मामला बता दिया और मौके से चली गई। 

बेटे को मिल रही धमकी से परिजनों का रो रो कर बुरा हाल
विशाल गाजीपुरी और सपना बौद्ध को जान से मारने की मिल रही धमकी से परेशान गायक के माता-पिता भी काफी परेशान हैं। उन्हें अपने बच्चों का डर लगातार सता रहा है कि कोई अनहोनी घटना न घट जाए। यहां तक कि उनके आंसू नहीं रुक रहे हैं। जब भी वह कैमरे से सामने आते हैं उनके आंख में आंसू छलक पड़ते हैं। 

PunjabKesari

देश के छह प्रमुख हवाईअड्डों समेत कई सरकारी संस्थाएं निजी हाथों में सौंप चुकी है सरकार
केंद्र सरकार ने 2 नवंबर को लखनऊ का अमौसी एयरपोर्ट यानि कि चौधरी चरण सिंह एअरपोर्ट को 50 साल के लिए अडाणी समूह को सौंप दिया है। अब एयरपोर्ट के प्रबंधन से लेकर वित्तीय मामलों तक, अडानी समूह के अधिकारी ही फैसले लेंगे। इससे पहले केंद्र सरकार ने फरवरी 2019 में देश के छह प्रमुख हवाईअड्डे लखनऊ, अहमदाबाद, जयपुर, मंगलुरू, तिरुवनंतपुरम और गुवाहाटी का विशेष व्यवस्था के तहत निजीकरण किया। प्रतिस्पर्धी बोलियां लगाकर अडाणी समूह ने इन सभी हवाईअड्डों को 50 साल चलाने के अधिकार हासिल किया। बता दें कि देश के 150 ट्रेने और 50 रेलवे स्टेशनों को भी सरकार निजी हाथों में सौंपने की पूरी तैयारी कर चुकी है। इसके अलावा भी सरकार कई सरकारी संस्थानों को निजी हाथों में सौंप चुकी है। भारत सरकार द्वारा लगातार किए जा रहे प्राइवेटाइजेशन के खिलाफ ही विशाल गाजीपुरी ने ‘आया देश विक्रेता’ गाना बनाया है। इसी पर उसे धमकियां मिल रही हैं। 

इस गाने पर है विवाद-

 

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Gujarat Titans

Rajasthan Royals

Match will be start at 24 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!