अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन: 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज, 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में 109 लोगों

Edited By Ramkesh, Updated: 18 Jun, 2022 03:28 PM

109 people in judicial custody for 14 days

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के कोतवाली पुलिस थाने में शुक्रवार को केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन के सिलसिले में पुलिस ने 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। इस बीच, एक स्थानीय अदालत ने विरोध-प्रदर्शन के सिलसिले में गिरफ्तार 109...

बलिया: उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के कोतवाली पुलिस थाने में शुक्रवार को केंद्र की अग्निपथ योजना के खिलाफ प्रदर्शन के सिलसिले में पुलिस ने 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया। इस बीच, एक स्थानीय अदालत ने विरोध-प्रदर्शन के सिलसिले में गिरफ्तार 109 लोगों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) प्रीति त्रिपाठी ने शनिवार को बताया कि बलिया रेलवे स्टेशन के स्टेशन मास्टर की शिकायत के आधार पर 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ रेलवे अधिनियम, भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान की रोकथाम अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि 109 गिरफ्तार व्यक्तियों को सिटी मजिस्ट्रेट की अदालत में पेश किया गया, जिन्होंने उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। त्रिपाठी के मुताबिक, जिन लोगों ने ट्रेन के डिब्बे में आग लगा दी थी और सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था, उनकी पहचान करने का प्रयास किया जा रहा है। इस बीच, थाना प्रभारी (जीआरपी) राघवेंद्र यादव ने बताया कि राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने 150 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

PunjabKesari

वहीं, बलिया की जिलाधिकारी सौम्या अग्रवाल ने कहा कि जिले में सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। अग्रवाल के अनुसार, “संवेदनशील स्थानों की पहचान कर ली गई है और वहां भारी संख्या में पुलिस बल व मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। पुलिस शनिवार तड़के से हाई अलर्ट पर है और बलिया रेलवे स्टेशन पर पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है।” अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने शुक्रवार को बताया था कि अलीगढ़ के टप्पल क्षेत्र में कुछ नौजवानों के एक समूह ने अलीगढ़-पलवल राज्यमार्ग पर स्थित जट्टारी पुलिस चौकी में आग लगा दी थी। इसके अलावा उन्होंने पुलिस के एक वाहन को भी आग के हवाले कर दिया था। उन्होंने बताया था कि प्रदर्शनकारियों ने अलीगढ़ और टप्पल के बीच फंसे कुछ निजी वाहनों पर पथराव भी किया था। हिंसक प्रदर्शन के दौरान खैर के पुलिस क्षेत्राधिकारी इंदु सिद्धार्थ घायल भी हो गए थे। हालांकि, उन्हें मामूली चोटें आई हैं।

PunjabKesari

कुमार ने बताया था कि प्रदेश में 17 जगहों से धरना प्रदर्शन की खबर आई है। हिंसक घटनाओं के मामले में वाराणसी में तीन और फिरोजाबाद, अलीगढ़ व गौतमबुद्ध नगर जिलों में एक-एक मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया था कि हिंसाग्रस्त जिलों में कुल 260 लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है। कुमार के अनुसार, सबसे ज्यादा 109 गिरफ्तारियां बलिया में की गई हैं, जबकि मथुरा में 70, अलीगढ़ में 31, वाराणसी में 27 और गौतमबुद्ध नगर में 15 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। अलीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी के मुताबिक, “जिले में हिंसा के मामले में 30 लोगों को हिरासत में लिया गया। हिंसाग्रस्त टप्पल इलाके में बल ने फ्लैग मार्च किया। घटना के बाद पुलिस की साइबर सेल के माध्यम से सोशल मीडिया पर पैनी निगाह रखी जा रही है।

उल्लेखनीय है कि सरकार ने दशकों पुरानी रक्षा भर्ती प्रक्रिया में आमूल-चूल परिवर्तन करते हुए तीनों सेनाओं में सैनिकों की भर्ती संबंधी ‘अग्निपथ' योजना की मंगलवार को घोषणा की थी। इसके तहत सैनिकों की भर्ती चार साल की लघु अवधि के लिए संविदा आधार पर की जाएगी। योजना के तहत तीनों सेनाओं में इस साल करीब 46,000 सैनिक भर्ती किए जाएंगे। चयन के लिए पात्रता आयु साढ़े 17 वर्ष से 21 वर्ष के बीच होगी और भर्ती होने वाले सैनिकों को ‘अग्निवीर' नाम दिया जाएगा।

Related Story

Trending Topics

Ireland

221/5

20.0

India

225/7

20.0

India win by 4 runs

RR 11.05
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!