ज्ञानवापी सर्वे: वरिष्ठ संघ प्रचारक इंद्रेश ने कहा- दुनिया जानना चाहती है सच, सामने आना ही चाहिए

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 16 May, 2022 06:22 PM

gyanvapi survey senior sangh pracharak indresh said  the world

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा हो गया है। तीसरे और अंतिम दिन करीब सवा दो घंटे तक सर्वे चला। इस पर वरिष्ठ संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने ज्ञानवापी जैसे मामलों पर मुखर होकर अपनी बात रखी...

मेरठ: उत्तर प्रदेश के वाराणसी में ज्ञानवापी मस्जिद का सर्वे पूरा हो गया है। तीसरे और अंतिम दिन करीब सवा दो घंटे तक सर्वे चला। इस पर वरिष्ठ संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने ज्ञानवापी जैसे मामलों पर मुखर होकर अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि ऐसे स्थानों का सच क्या है ये भारत ही नहीं विश्व जानना चाहता है। उन्होंने कहा कि जो भी ऐसे संस्थान है उनका सत्य क्या है सामने आना चाहिए। देश के हर नागरिक को सत्य जानने का अधिकार है, क्योंकि इऩ सभी स्थानों का सच क्या है ये भारत ही नहीं विश्व जानना चाहता है। उन्होंने कहा कि कोर्ट अपनी कार्रवाई करेगा।

वरिष्ठ संघ प्रचारक ने कहा कि आऩे वाले कल में जितने भी विवाद हैं। एक बेसिक फाउंडेशन बनाया जाना आवश्यक है। साथ ही सभी को इसमें कॉपरेट करना चाहिए। इसको बताते या करते समय कट्टरता की जरुरत नहीं है। न ही वैमनस्य या क्रोध की जरुरत है। उन्होंने कहा कि दुनिया में जो भी ऐसे स्थान हो सकते हैं उन सभी का सच सामने आना चाहिए, क्योंकि समय आ गया है कि नेशन एंड वर्ल्ड सत्य को जाने।

उन्होंने कहा कि हर चीज की प्रतीक्षा करनी चाहिए। एक पुस्तक का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि भारत की संस्कृति ग़लत को गलत कहती है। आक्रांता को आक्रांता कहती है। औरंगजेब, गजनी, बाबर, गौरी विदेशी आक्रांता थे ये कहने में क्या संकोच है। जब भारत में रावण हिरणाकश्यक कंस को शैतान कहता है, तो आक्रांता को आक्रांता क्यों नहीं। 


 

Related Story

India

179/5

20.0

South Africa

131/10

19.1

India win by 48 runs

RR 8.95
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!