मुरादाबाद से उठी थी श्रीराम जन्म भूमि मुक्ति की आवाज, दिनेश त्यागी ने किया था आंदोलन का शंखनाद

Edited By Umakant yadav, Updated: 05 Aug, 2021 12:25 PM

dinesh tyagi did the conch shell of shri ram janmabhoomi liberation movement

राष्ट्रीय भावना से ओतप्रोत दिनेश चंद्र त्यागी ने 1982 में मुरादाबाद से ही श्रीराम जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन का शंखनाद किया था। मुरादाबाद में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में त्यागी को याद करते हुए 81 परिवारों के पलायन की कथित खबरों को गंभीरता से लेते हुए...

मुरादाबाद: राष्ट्रीय भावना से ओतप्रोत दिनेश चंद्र त्यागी ने 1982 में मुरादाबाद से ही श्रीराम जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन का शंखनाद किया था। मुरादाबाद में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में त्यागी को याद करते हुए 81 परिवारों के पलायन की कथित खबरों को गंभीरता से लेते हुए विभिन्न हिंदू संगठनों ने चिंता व्यक्त करते हुए लोगों को जागरूक रहने का आह्वान किया है।       

मुरादाबाद के सिविल लाइंस स्थित पंडित शंभूनाथ दूबे सरस्वती शिशु मंदिर, जूनियर हाईस्कूल परिसर में आयोजित श्रद्धांजलि सभा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के क्षेत्रीय प्रचार प्रमुख जगदीश, विभाग प्रचारक ओमप्रकाश शास्त्री, हिंदू महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री वीरेश त्यागी, विहिप के अंतरराष्ट्रीय कार्यालय अध्यक्ष आलोक, उगता भारत के संपादक राकेश आर्य, नगर विधायक रीतेश गुप्ता, विधान परिषद सदस्य डा.जयपाल सिंह ‘व्यस्त' आदि विभिन्न हिंदू संगठनों के राष्ट्रीय पदाधिकारियों ने दिनेश चंद्र त्यागी को श्रद्धा सुमन अर्पित किए।      

गौरतलब है कि राष्ट्रीय शिक्षा समिति उत्तर प्रदेश के निदेशक, सांस्कृतिक गौरव संस्थान के राष्ट्रीय महामंत्री एवं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूर्व जिला प्रचारक दिनेश चंद्र त्यागी की श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई। त्यागी ने 1982 में मुरादाबाद से रामजन्म भूमि मुक्ति आंदोलन का बिगुल बजाया था। श्रीराम जन्म भूमि आंदोलन के प्रणेता रहे दिनेश चंद्र चंद्र त्यागी का 23 जुलाई को मेरठ के अस्पताल में निधन हो गया था। श्री राम जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन के प्रणेता रहे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वयोवृद्ध 78 वर्षीय त्यागी की तबियत बिगड़ने पर उन्हें 20 दिन पहले मुरादाबाद के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्हें 22 जुलाई को मेरठ रेफर किया गया था और शुक्रवार को उनका निधन हो गया था।       

मुरादाबाद से श्री राम जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन की बुनियाद तैयार करने तथा मुरादाबाद को कर्मभूमि बनाने वाले दिनेश चंद्र त्यागी का जन्म 13 अगस्त 1943 को अमरोहा जिले के (तब मुरादाबाद) की धनौरा तहसील के गांव पेली कपसुआ उर्फ पेली तगा में हुआ था। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभागीय प्रचारक और हिंदू जागरण मंच के लिए कार्य करते हुए उन्होंने 1982 में मुरादाबाद में बड़ा हिंदू सम्मेलन किया था। इसी सम्मेलन में उन्होंने तत्कालीन कैबिनेट मंत्री दाऊ दयाल खन्ना के साथ मिलकर श्री राम जन्म भूमि को मुक्त कराने का मुद्दा उठाया था। वर्षी 1982 में मुरादाबाद में टाउन हाल के पास बजरंग बली मंदिर में यह हिंदू सम्मेलन हुआ था। इस सम्मेलन में श्री राम जन्म भूमि मुक्ति आंदोलन का प्रस्ताव पास हुआ था। इसके बाद तत्कालीन कैबिनेट मंत्री और कांग्रेसी नेता दाऊ दयाल खन्ना द्वारा अयोध्या में राममंदिर निर्माण के लिए सरकार को चिट्ठी भी लिखी थी।       

उसके बाद 1983 में मुफ्फरनगर में दिनेश त्यागी ने एक बड़ा हिंदू सम्मेलन आयोजित किया और उसमें बड़ी संख्या में लोग पहुंचे थे और राम जन्म भूमि को मुक्त कराने के लिए सभी ने प्रतिज्ञा की थी। इसके बाद दिल्ली में हुए हिंदू सम्मेलन में प्रस्ताव पास कराकर दिनेश त्यागी ने राम मंदिर मुद्दे को राष्ट्रीय मुद्दा बना दिया था। आंदोलन के शुरुआती दौर में बनी श्री राम जन्म भूमि मुक्ति यज्ञ समिति के वह संयुक्त सचिव भी रहे। त्यागी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में मुरादाबाद के जिला प्रचारक और बाद में मेरठ व मुरादाबाद विभाग के विभाग प्रचारक भी रहे। उनकी करीब 150 सरस्वती शिशु मंदिर स्कूलों के निर्माण में अहम भूमिका रही। हिंदू महासभा के 11 वर्ष तक राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा विश्व हिंदू महासंघ के अंतररष्ट्रीय सचिव रहे। वर्ष 1984 में मुरादाबाद से भारतीय जनता पाटर्ी के टिकट पर कांग्रेस के हाफिज मोहम्मद सिद्दीक से लोकसभा चुनाव में पराजित हो गए थे।       

सांस्कृतिक गौरव संस्थान के राष्ट्रीय महामंत्री रहे श्री त्यागी मुरादाबाद में 1980 में पंडित शंभु दुबे सरस्वती शिशु मंदिर की स्थापना की थी। दिनेश त्यागी इसी स्कूल में रहते थे। वह जीवन भर अविवाहित रहे,राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के पूर्ण कालिक प्रचारक थे। मुरादाबाद के अलावा वह विश्च हिंदू परिषद के दिल्ली आरके पुरम स्थित मुख्य कार्यालय पर भी प्रवास करते थे।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!