विधानसभा में अनिल राजभर बोले- योगी सरकार परीक्षण के बाद लागू करेगी सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट

Edited By Umakant yadav, Updated: 18 Aug, 2021 06:35 PM

yogi government will implement social justice committee report after test

उत्तर प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्‍याण मंत्री अनिल राजभर ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट का परीक्षण कराया जा रहा है और परीक्षण के बाद उसे लागू किया जाएगा। बुधवार को विधानसभा में अनुपूरक बजट पेश होने के बाद सुहेलदेव...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के पिछड़ा वर्ग कल्‍याण मंत्री अनिल राजभर ने बुधवार को विधानसभा में कहा कि सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट का परीक्षण कराया जा रहा है और परीक्षण के बाद उसे लागू किया जाएगा। बुधवार को विधानसभा में अनुपूरक बजट पेश होने के बाद सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के दल नेता ओमप्रकाश राजभर ने कार्य स्‍थगन प्रस्‍ताव के तहत विधानसभा की कार्यवाही रोककर पिछड़ों के आरक्षण के बंटवारे के लिए बनी सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट को लेकर चर्चा कराये जाने की मांग की। उन्होंने सवाल किया कि रिपोर्ट रद्दी की टोकरी में रखी है, यह लागू होगी या नहीं, पिछड़ों के आरक्षण में बंटवारा होगा या नहीं।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश में अति पिछड़ों के आरक्षण में बंटवारे के लिए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार ने उच्‍च न्‍यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश राघवेंद्र सिंह की अध्यक्षता में सामाजिक न्याय समिति का गठन किया था जिसकी रिपोर्ट दो वर्ष से अधिक समय पहले सरकार को सौंप दी गई है। सुभासपा नेता की मांग का जवाब देते हुए पिछड़ा वर्ग कल्‍याण मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि ''सामाजिक न्‍याय इस देश का बड़ा विषय रहा है और इसके लिए योगी सरकार पूरी तरह कृतसंकल्प है।''

उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि सामाजिक न्याय समिति का गठन योगी जी की सरकार ने किया है और पिछड़ों-दलितों को भाजपा आरक्षण नहीं देगी तो ओवैसी (एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी, ओमप्रकाश राजभर के भागीदारी संकल्प मोर्चा में साझीदार हैं) देंगे क्‍या। उन्होंने कहा कि रिपोर्ट का परीक्षण कराया जा रहा है ताकि किसी को अदालत में जाने का मौका न मिले। पिछड़ा वर्ग कल्‍याण मंत्री ने सुभासपा नेता पर इशारा करते हुए कहा कि जिनके साथ (ओवैसी) ये गलबहियां कर रहे हैं, वह बहराइच में गजनी से आये एक आक्रांता की मजार पर चले जाते हैं। उन्होंने कहा कि जो गजनी से आया उसकी तुलना हिंदुस्तान में पैदा हुए मुसलमानों से नहीं की जा सकती है। ओवैसी ने कुछ दिनों पहले बहराइच में अपनी पार्टी के एक कार्यक्रम के बाद सैयद सालार गाजी की मजार पर पहुंच कर फूल चढ़ाए थे। इतिहासकारों का मत है कि महाराजा सुहेलदेव ने बहराइच में सैयद सालार का वध किया था। ओमप्रकाश राजभर ने सुहेलदेव के नाम पर ही अपनी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी का गठन किया है। सत्ता पक्ष के सदस्य भी ओवैसी को लेकर ओमप्रकाश राजभर पर निशाना साध रहे थे।

पलटवार करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने कहा,''ओवैसी को लेकर आप लोगों को इतना दर्द क्यों हो रहा है। कश्मीर में महबूबा मुफ्ती के साथ सरकार बनाओ तो पीड़ा नहीं होती और हमारे साथ अवैसी आ गये तो आप लोगों को पीड़ा क्यों हो रही है।'' उन्होंने सवाल उठाया कि सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट सरकार को मिले दो वर्ष दस माह बीत गये और इसके परीक्षण में अभी कितना और समय लगेगा। राजभर ने कहा कि पिछड़े समाज के साथ धोखा हो रहा है। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्‍ना ने भरोसा दिया कि सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट का परिणाम इसी विधानसभा (17वीं विधानसभा) में ही आएगा। इसके पहले नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि पिछड़ों और दलितों के साथ न्याय तब तक नहीं होगा जब तक सभी जातियों की गणना नहीं हो जाती है। चौधरी कहा कि जातीय गणना करा दीजिए और जिसकी जितनी संख्या हो उसकी उतनी हिस्सेदारी दे दीजिए।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!