वाराणसी: राजभर की पार्टी के नेता ने मुस्लिम समाज से ज्ञानवापी मस्जिद को हिंदू पक्ष को सौंपने की अपील की

Edited By Imran, Updated: 08 May, 2022 03:44 PM

the leader of rajbhar s party appealed to the muslim community

काशी विश्वनाथ ज्ञानवापी मामले को लेकर देश का माहौल गर्म है। इसी बीच ओमप्रकाश राजभर की पार्टी सुभासपा के प्रदेश प्रवक्ता शशी प्रताप सिंह ने मुस्लिम समाज से ज्ञानवापी मस्जिद को हिंदू पक्ष को सौंप देने की अपील की है।

वाराणसी: काशी विश्वनाथ ज्ञानवापी मामले को लेकर देश का माहौल गर्म है। इसी बीच ओमप्रकाश राजभर की पार्टी सुभासपा के प्रदेश प्रवक्ता शशी प्रताप सिंह ने मुस्लिम समाज से ज्ञानवापी मस्जिद को हिंदू पक्ष को सौंप देने की अपील की है। प्रताप सिंह ने बयान जारी कर बताया कि बाबा विश्वनाथ मंदिर के बगल में बना हुआ ज्ञानवापी मस्जिद वास्तव में कभी मंदिर था। इस मस्जिद को ध्यान से देखें तो यह साफ दिखाई देता है कि किसी जमाने में मंदिर का ऊपरी हिस्सा को तोड़कर मस्जिद का ढांचा बनाया गया है।

उन्होंने कहा कि इस मंदिर के बारे में पूर्वजों का कहना है कि मंदिर के अंदर श्रृंगार गौरी माता की मूर्ति थी। शायद आज भी ज्ञानवापी में वह मूर्ति स्थापित है। बाहरी दीवार देखेने से तो शुद्ध रूप से वह मंदिर का ही डिजाइन दिखाई देता है। शशिप्रताप सिंह ने इस मामले में हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट से हस्तक्षेप करने की अपील की। कहा कि हिंदुओं की आस्था को ध्यान में रखते हुए मां श्रृंगार गौरी के मंदिर को हिंदुओं के हाथ में देने की प्रक्रिया शुरू करें। जहां तक मुसलमान भाइयों की बात है तो बनारस जनपद में अनगिनत मस्जिदें हैं। ज्ञानवापी मस्जिद के लिए मुस्लिम पक्ष को कहीं और प्रदेश सरकार को जमीन देनी चाहिए। बनारस पूरी दुनिया में गंगा-जमुनी तहजीब, राम-रहीम सद्भावना और भाईचारा के लिए प्रसिद्ध है। दोनों समाज की आस्था को ध्यान में रखते हुए कोर्ट सही फैसला करें। 

राखी सिंह कल अपना केस वापस लेंगी
वहीं, ज्ञानवापी मामले में एक नया मोड़ आते दिखाई दे रहा है। दरअसल,  हिन्दू पक्ष की तरफ से 5 वादी में से एक वादी राखी सिंह कल अपना केस वापस लेंगी। हालांकि हिन्दू पक्ष का कहना है कि बाक़ी 4 वादी अपने रुख़ पर तटस्थ हैं और वो केस चलाएंगी, फ़िलहाल हिन्दू पक्ष के वक़ील और अन्य पदाधिकारी बैठक कर आगे की रणनीति तय करेंगे। 4 वादी में सीता साहू, मंजू व्यास, लक्ष्मी देवी और रेखा पाठक हैं।

बता दें कि राखी सिंह के केस वापस लेने के निर्णय के पीछे का कारण स्प्ष्ट नहीं है। ज्ञानवापी मामले में एक वादी के अपना केस वापस लेने की खबर मिलने के बाद वादी की बैठक की जाएगी। बताया जा रहा है कि इस दौरान राखी सिंह को मनाने का प्रयास किया जाएगा। राखी सिंह मामले को लेकर कैंट क्षेत्र में गोपनीय बैठक होगी। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!