अयोध्या ले लिया है अब काशी, मथुरा बाकी है... संतों ने लिया श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर मंदिर का संकल्प

Edited By Mamta Yadav, Updated: 09 Aug, 2022 08:55 PM

ayodhya has been taken now kashi mathura is left

मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की जन्मभूमि पर रामलला का भव्य मंदिर का संकल्प पूरा होने के बाद संत धर्माचार्यों ने मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर शाही ईदगाह मस्जिद को हटाकर मंदिर निर्माण का संकल्प लिया है।

अयोध्या: मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की जन्मभूमि पर रामलला का भव्य मंदिर का संकल्प पूरा होने के बाद संत धर्माचार्यों ने मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर शाही ईदगाह मस्जिद को हटाकर मंदिर निर्माण का संकल्प लिया है।

अयोध्या के संत-धर्माचार्यों ने श्रीराम वैदेही खडेश्वरी मंदिर नयाघाट पर एक बैठक कर मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि के लिए दोनों मुट्ठी बांधकर संकल्प लिया है कि जब तक श्रीकृष्ण जन्मभूमि से शाही ईदगाह मस्जिद हटाकर भव्य मंदिर का निर्माण नहीं हो जाता है तब तक हम संत धर्माचार्य व हिन्दू जनमानस चैन से नहीं बैठेंगे और श्रीकृष्ण जन्मभूमि की लड़ाई लड़ते रहेंगे। उन्होंने कहा कि संगठन की देन है कि आज श्रीकृष्ण जन्मभूमि की कानूनी लड़ाई उच्च स्तर पर पहुंची है। इसके लिए देश के पच्चीस से ज्यादा हिन्दूवादी संगठनों ने हमें समर्थन दिया है। उन्होंने कहा कि श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास ने देश के पच्चीस प्रदेशों में संत-महंत व महामंडलेश्वर को प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया है। साथ ही यूपी में सत्तर जिला कमेटी भी घोषित की है।

देवमुरारी बापू ने कहा कि गांव-गांव व शहर-शहर जाकर श्रीकृष्ण जन्मभूमि की लड़ाई व राम मंदिर आंदोलन की तरह जन आंदोलन बनायेंगे जिससे राम मंदिर की तरह श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर फैसला आये। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण जन्मभूमि के काम को भी पूरा करेंगे। इस अवसर पर श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर निर्माण न्यास के संरक्षक तपस्वी छावनी पीठाधीश्वर जगद्गुरू परमहंसाचार्य ने कहा कि अयोध्या, मथुरा, विश्वनाथ तीनों लेंगे एक साथ। अयोध्या ले लिया गया है और अब मथुरा, काशी बाकी है।

उन्होंने कहा कि इसकी सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो जिससे श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर जल्द से जल्द फैसला आ सके। इस बार की जन्माष्टमी ऐतिहासिक होगी। ऐसा संकल्प हम लोग ले रहे हैं। खंडेश्वरी मंदिर के महंत व संरक्षक रामप्रकाश दास महाराज ने कहा कि राम मंदिर की तरह श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर भी फैसला हो जिससे भगवान श्रीकृष्ण का भव्य मंदिर बन सके। इस बैठक में युगल विनोद कुंज के महंत रामेश्वर शरण, आचार्य वरुण दास, पुजारी रामकिशोर दास समेत अन्य संत महंत उपस्थित थे।

Related Story

Trending Topics

Australia

146/7

19.5

West Indies

145/9

20.0

Australia win by 3 wickets

RR 7.49
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!