UP में जुमे की नमाज के दौरान हिंसा की संतों ने की निंदा, बोले- ऐसा क्या पढ़ाते हैं जो हिंसा हो जाती है

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 11 Jun, 2022 01:19 PM

the saints condemned the violence in up during friday prayers

यूपी में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज, सहारनपुर, मुरादाबाद और फिरोजाबाद सहित कुछ अन्य शहरों में उपद्रवी तत्वों द्वारा नारेबाजी और पथराव की घटनाओं के मामले में बीती रात गिरफ्तारियों का दौर...

वाराणसी: यूपी में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज, सहारनपुर, मुरादाबाद और फिरोजाबाद सहित कुछ अन्य शहरों में उपद्रवी तत्वों द्वारा नारेबाजी और पथराव की घटनाओं के मामले में बीती रात गिरफ्तारियों का दौर चलता रहा। इसी कड़ी में आज काशी धर्म परिषद की ओर से हरतीरथ स्थित सुदामा कुटी में संत समाज की बैठक महंत बालक दास की अध्यक्षता में आयोजित की गई। इस बैठक में जुमे की नमाज के बाद उत्तर प्रदेश और देश में हो रही हिंसा पर चर्चा हुई। चर्चा के बाद मठों के पीठाधीश्वर, संतों-महंतों और सामाजिक कार्यकर्ताओं की उपस्थिति में 16 प्रस्ताव पारित किए गए। इन प्रस्तावों को सभी अखाड़ों और सभी पंथों के प्रमुखों के साथ सरकार को भेजा जाएगा।
PunjabKesari
संतों ने इन 16 प्रस्ताव को पारित किया:-

1.    शुक्रवार (जुमे) के दिन हिंसा करने वाले मुस्लिम कट्टरपंथी नमाजियों की वजह से देश का माहौल खराब हो रहा है। इन पर प्रतिबन्ध लगाया जाये।
2.    जिस मस्जिद से पथराव हो रहा है उस पर पूर्णतः तालाबन्दी की जाये।
3.    ज्ञानवापी पर सच बोलने वाले राष्ट्रवादी मुसलमान अफसर बाबा को स्थायी सुरक्षा दी जाये। अफसर बाबा के हमलावरों को गिरफ्तार कर रासुका लगाया जाये। काशी धर्म परिषद अफसर बाबा के साथ है।
4.    नुपुर शर्मा को रेप की धमकी देने वाले जिहादी हैवानों पर रासुका लगाया जाये।
5.    इस्लामी कट्टरपंथियों पर सख्त कार्यवायी की जाये।
6.    देश को इस्लामी आतंकियों से बचाने के लिये संतों को भी सड़क पर उतरना होगा।
7.    इस्लामी आतंकियों के हवाले हम देश को नहीं छोड़ सकते। देश को इस्लामी देश बनाने की साजिश का पर्दाफाश करना होगा।
8.    संतों, महात्माओं और नागा साधुओं की संयुक्त बैठक आयोजित की जायेगी जिसमें देश बचाने की रणनीति पर विचार किया जायेगा।
9.    भगवान शिव, भगवान श्रीराम, माता जानकी, भगवान श्रीकृष्ण समेत हिन्दू देवी देवताओं पर अपमान जनक टिप्पणी करने, फिल्मों में मजाक बनाने वाले जिहादियों को तत्काल जेल भेजा जाये।
10.    हिन्दू समाज के धैर्य की परीक्षा न लें इस्लामी जिहादी। मुहल्ले स्तर पर जिहादियों की सूची बनायी जाये।
11.    शुक्रवार (जुमे) के दिन नफरत फैलाने वाली तकरीर देने वाले मौलानाओं को गिरफ्तार कर सम्पत्ति जब्त की जाये।
12.    हर मस्जिद में सीसीटीवी कैमरा लगे, तकरीर करने वाले मौलानाओं का भाषण रिकार्ड हो। उकसाने और भड़काने वाले बयान देने पर तत्काल रासुका लगायी जाये।
13.    भारत के सम्मान के साथ खिलवाड़ करने वाले इस्लामी देशों के साथ व्यापारिक रिश्ते खत्म किये जायें।
14.    अपने देश की रक्षा के लिये संत समाज की शहर स्तर पर इकाई गठित की जायेगी जिसमें सभी पंथों के लोग शामिल होंगे।
15.    नमाजियों द्वारा रांची में हनुमान जी के मंदिर में तोड़ फोड़ और हमले की कठोर निन्दा की जाती है। झारखंड सरकार तत्काल नमाजियों और उनके आकाओं को जेल भेजे, अन्यथा देशभर में आन्दोलन के लिये तैयार रहे।
16.    इस्लामी जिहादी अपनी ताकत दिखाकर भारत में शरिया लागू करवाने का प्रयोग कर रहे हैं। ये भारत में तालिबानी शासन चाहते हैं। अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय जाहिल जेहादियों पर अंकुश लगाए। भारत सरकार इन जिहादियों पर नियंत्रण के लिये कठोर कानून बनाए।


 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!