ज्ञानवापी सर्वे का फैसला सुनाने वाले जज बोले- डर का माहौल बनाया गया, मेरे परिवार को सुरक्षा की चिंता

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 13 May, 2022 11:12 AM

the judge who gave the verdict of the gyanvapi survey said  an

ज्ञानवापी मस्जिद और श्रृंगार गौरी मंदिर विवाद में फैसला सुनाने वाले जज ने अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की है। वाराणसी सिविल कोर्ट के सीनियर डिवीज़न जज रवि कुमार दिवा...

वाराणसी: ज्ञानवापी मस्जिद और श्रृंगार गौरी मंदिर विवाद में फैसला सुनाने वाले जज ने अपनी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की है। वाराणसी सिविल कोर्ट के सीनियर डिवीज़न जज रवि कुमार दिवाकर ने अपने फैसले में खुद की और अपने परिवार की सुरक्षा पर चिंता जताई है। अपने जजमेंट के 2 नंबर पेज पर उन्होंने बाकायदा इसका जिक्र किया है। उन्होंने अपने आदेश में कहा कि इस सर्वे के फैसले को लेकर डर का माहौल बना दिया गया है। मुझे अपने परिवार की और परिवार को मेरी सुरक्षा की चिंता बनी रहती है।

जज रवि दिवाकर ने लिखा है कि कमीशन की कार्रवाही एक सामन्य कमीशन की प्रकिया है जो कि सामान्यतः सिविल सूट में करवाई जाती है। शायद ही कभी किसी अधिवक्ता कमिश्नर को हटाने की बात की गई हो, लेकिन इस मामले में डर का माहौल बना दिया गया। उन्होंने लिखा कि “घर से बाहर होने पर बार-बार पत्नी मेरी सुरक्षा के लिए चिंतित रहती है। 11 मई को मां ने मेरी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की। शायद उन्हें पता चला था कि मैं कमिश्नर के रुप में ज्ञानवापी जा रहा हूं। मुझे मां ने मना भी किया कि मैं कमीशन में न जाऊं, क्योंकि वहां मेरी सुरक्षा को खतरा हो सकता है।”

इस बीच मामले से जुड़े सभी पक्षकारों और अधिवक्ताओं की सुरक्षा बढ़ाई गई है। वादी पक्ष की सभी महिलाओ को सुरक्षा दी गई है और प्रतिवादी पक्ष के भी लोगों की सुरक्षा पर पैनी निगाह रखी जा रही है। मामले की संवेदनशीलता देखते हुए सभी वादी महिलाओ के आवाजाही पर प्रशासन कड़ी निगरानी रख रहा है। 

Related Story

Trending Topics

Indian Premier League
Sunrisers Hyderabad

Punjab Kings

Match will be start at 22 May,2022 07:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!