अंधविश्वास ने लील ली मासूम की जिंदगी, बलि के लिए बच्चे का तांत्रिक ने किया किडनैप, दम घुटने से मौत

Edited By Moulshree Tripathi, Updated: 24 Aug, 2021 10:48 AM

superstition took the life of an innocent child the tantrik kidnapped

आज के आधुनिक युग में भी अंधविश्वास में घोर आस्था रकने वालों की कमी नहीं है। इसके लिए वे किसी की भी जिंदगी तक को दांव पर लगा देते हैं। प्रताड़ना और बलि

गोरखपुरः आज के आधुनिक युग में भी अंधविश्वास में घोर आस्था रकने वालों की कमी नहीं है। इसके लिए वे किसी की भी जिंदगी तक को दांव पर लगा देते हैं। प्रताड़ना और बलि तो सामान्य स बात हो गई है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के सीएम सीटी गोरखपुर से है। जहां पुलिस ने पिपराईच थाना क्षेत्र से बरामद मासूम बच्चे गजेन्द्र निषाद की हत्या का खुलासा किया है। जहां पता चला कि अंधविश्वास में डूबे तांत्रिक ने बच्चे का अपहरण बलि देने के लिए किया था मगर उसकी दम घुटने से मौत हो गई।

वहीं मामले को लेकर अलर्ट 72 घंटे में ही वारदात का खुलासा करने वाली पुलिस का दावा है कि बलि देने को लेकर तांत्रिक ने घर पर सो रहे मासूम बच्चे का अपहरण किया था और बच्चे के शोर मचाने के डर से उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया था। इस दौरान मुंह में कपड़ा होने से बच्चे की दम घुटने से मौत हो गयी। बच्चे की मौत से घबराये तांत्रिक गन्ने के खेत में बच्चे का शव छिपाकर भाग गया था।

इस बाबत एसएसपी डॉक्टर विपिन टाडा ने मासूम बच्चे की हत्या का खुलासा करते हुए बताया है कि पिपराईच थाना क्षेत्र के मटिहनिया सोमाली इलाके से बीते 19 अगस्त को पांच साल के मासूम बच्चे का शव गन्ने की खेत से पुलिस ने बरामद किया था। मृतक बच्चे के मुंह में हत्यारे ने बेरहमी से कपड़ा ठूंसा था और उसके हाथ बंधे मिले थे। मृतक बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर पुलिस मामले की तफ्तीश में जुट गयी थी। परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस भी दर्ज कर लिया था।

 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!