Prayagraj: CM योगी के आदेश पर अलग से बनाया गया मंकीपॉक्स वार्ड, 10 बेड किए गए आरक्षित... आधुनिक मशीनों से लैस है वार्ड नंबर-7

Edited By Mamta Yadav, Updated: 06 Aug, 2022 09:24 PM

prayagraj monkeypox ward made separately on the orders of cm yogi

एक तरफ जहां पूरा विश्व कोरोनावायरस से अभी भी पूरी तरह से उबर नहीं पाया है तो दूसरी तरफ अब विश्व में एक नया संकट सामने आ गया है। विश्व के कई देशों में मंकीपॉक्स वायरस के मामले सामने आए है। मंकीपॉक्स वायरस अब भारत में भी पांव पसारना शुरू कर दिया हैं...

प्रयागराज: एक तरफ जहां पूरा विश्व कोरोनावायरस से अभी भी पूरी तरह से उबर नहीं पाया है तो दूसरी तरफ अब विश्व में एक नया संकट सामने आ गया है। विश्व के कई देशों में मंकीपॉक्स वायरस के मामले सामने आए है। मंकीपॉक्स वायरस अब भारत में भी पांव पसारना शुरू कर दिया हैं हालांकि अभी भारत में इसके 4 केस सामने आये हैं जो कि केरल और दिल्ली में मिले हैं। इसी के तहत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंकीपॉक्स वायरस को गंभीरता से लेते हुए स्वास्थ्य महानिदेशालय को प्रदेश के सभी कोविड-19 अस्पतालों को मंकी पॉक्स वायरस के लिए 10-10 बेड आरक्षित करने का निर्देश दिया है। स्वास्थ्य महानिदेशालय के आदेश पर सभी कोविड-19 अस्पतालों ने अपनी कमर कस ली है। इसी कड़ी में प्रयागराज के स्वरूप रानी अस्पताल में भी 10 बेड अरक्षित किए गए हैं।

PunjabKesari

बता दें कि मंकीपॉक्स वायरस एक महामारी है और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य महानिदेशालय को आदेश जारी कर दिया। सभी कोविड-19 अस्पतालों को 10-10 बेड आरक्षित करने का निर्देश दिया गया है। ऐसे में प्रयागराज के स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय ने मंकीपॉक्स वायरस से निपटने के लिए अलग से मंकीपॉक्स वायरस वार्ड बना रखा है जिसमें 10 बेड आरक्षित कर दिए हैं। स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में वार्ड नंबर 7 में मंकीपॉक्स वार्ड बनाया गया है। स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय में इस महामारी से निपटने के लिए पूरी कमर कस ली है और बेड के साथ सभी आधुनिक मशीनें लगाई गई हैं आरक्षित बेड पूरी तरह से वातानुकूलित है और मरीज की देखभाल के लिए अलग से पूरी टीम बना दी गयी है।

PunjabKesari

स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय के प्रिंसिपल एसपी सिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद मंकीपॉक्स को लेकर बीते 1 अगस्त को ही मंकीपॉक्स वार्ड बना दिया गया। जिसमें 10 बेड आरक्षित कर दिए गए हैं। इस वार्ड में हर तरह की व्यवस्था पूरी कर दी गई है। अस्पताल में ऑक्सीजन की पूरी व्यवस्था है क्योंकि जिस तरह से कोविड-19 महामारी के दौरान ऑक्सीजन की कमी से पूरा देश जूझ रहा था इस बार उस तरह की कमी ना हो उसको लेकर अस्पताल ने पहले से ही सारी व्यवस्था कर रखी है। मरीजों के लिए साफ-सुथरे बेड, वेंटिलेटर मॉनिटर, सारी व्यवस्थाएं पहले से कर दी गई है।

PunjabKesari

अगर प्रयागराज में कोई भी मरीज मंकीपॉक्स वायरस का सामने नजर आता है तो उसको मंकीपॉक्स वार्ड में शिफ्ट किया जाएगा। अस्पताल प्रशासन का कहना है कि कहीं से कोई चूक ना हो जाए इसलिए हमने पहले से ही सारी तैयारियां कर रखी है। अस्पताल प्रशासन इसको एक चुनौती के रूप में ले रहा है।

PunjabKesari

जानिए, क्या है मंकीपॉक्स वायरस ?
मंकीपॉक्स एक जूनोसिस वायरस यानि जानवरों से इंसानों में फैलने वाला संक्रमण है। मंकीपॉक्स वायरस, स्मॉल पॉक्स यानी चेचक के वायरस के परिवार का ही सदस्य है। यह वायरस मानव से दूसरे मानव के कांटेक्ट में आने से भी फैलता है। इस वायरस के लक्षण सिर दर्द, बुखार, कमर में दर्द, मांसपेशियों में दर्द, कपकपी छूटना आदि है। अगर किसी मरीज में मंकीपॉक्स के लक्षण दिखाई देते हैं तो पहले मरीज को 21 दिन आइसोलेट किया जाता है और फिर विशेषज्ञ डॉक्टरों के द्वारा चिकित्सा प्रदान की जाती है।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!