शर्मनाक: पहले दलित महिला से किया सामूहिक दुष्कर्म, अब मुकदमा वापस नहीं लेने पर दे रहे जान से मारने की धमकी

Edited By Anil Kapoor, Updated: 21 Nov, 2022 01:00 PM

gang rape victim dalit woman threatened to withdraw case

उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार एक दलित महिला को मुकदमा वापस नहीं लेने पर एक ब्लॉक प्रमुख के परिजनों द्वारा कथित तौर पर धमकी दिए जाने का मामला सामने....

भदोही: उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार एक दलित महिला को मुकदमा वापस नहीं लेने पर एक ब्लॉक प्रमुख के परिजनों द्वारा कथित तौर पर धमकी दिए जाने का मामला सामने आया है। पुलिस ने मामले में संबंधित धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कर विधिक कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस के अनुसार, प्रयागराज जिले के हंडिया क्षेत्र की रहने वाली महिला ने पूर्व बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के भतीजे एवं ब्लॉक प्रमुख मनीष मिश्रा और उसके तीन दोस्तों के खिलाफ साल 2019 में भदोही के ऊंज थाना में सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था।

खेत में काम करने के बहाने बुलाकर किया था सामूहिक दुष्‍कर्म
पुलिस के मुताबिक, महिला ने आरोप लगाया था कि उसे खेत में काम करने के बहाने से बुलाकर उसके साथ सामूहिक दुष्‍कर्म किया गया था। इसी मामले को लेकर पीड़िता पैरवी के लिए भदोही आती है। गोपीगंज थाने के प्रभारी निरीक्षक सदानंद सिंह ने बताया कि सामूहिक दुष्कर्म की शिकार महिला रविवार को अपने वकील से मिलने भदोही पहुंची थी और जब वह ज्ञानपुर की तरफ जा रही थी, तभी गोपीगंज थाना के पास चौराहे पर मनीष मिश्रा के पुत्र यश मिश्रा, साले संतोष तिवारी, पत्नी बिंदु मिश्रा और एक अन्य व्यक्त राकेश भारती ने उसे कथित तौर पर रोक लिया और मुकदमा वापस नहीं लेने पर जातिसूचक गालियां देते हुए जान से मार डालने की धमकी दी।

आरोपी पर गंभीर अपराधों को लेकर दर्ज हैं कुल 21 मामले
प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक, पीड़िता का आरोप है कि 2019 में सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने के बाद ये चारों लोग हंडिया स्थित उसके आवास पर कई बार आकर पूरे परिवार को खत्म करने की धमकी दे चुके हैं। सिंह ने बताया कि इस मामले में सामूहिक बलात्कार की शिकार महिला की तहरीर पर बिंदु मिश्रा, यश मिश्रा, संतोष तिवारी और राकेश भारती के खिलाफ रविवार शाम को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमानित करना) और 506 (आपराधिक धमकी) के अलावा अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है। पुलिस अधीक्षक डॉ. अनिल कुमार ने बताया की पूर्व विधायक विजय मिश्रा के सगे भतीजे मनीष मिश्रा पर लूट, हत्या, बलात्कार, राष्ट्रीय सुरक्षा कानून, धोखाधड़ी जैसे गंभीर अपराधों को लेकर कुल 21 मामले दर्ज हैं। वह इस समय वाराणसी की जेल में बंद है।

Related Story

Trending Topics

Pakistan

137/8

20.0

England

138/5

19.0

England win by 5 wickets

RR 6.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!