कानपुर IIT ने दिया निष्कर्ष, कहा- जल्द ही कोरोना की जंग जीतेगा भारत

Edited By Ramkesh, Updated: 26 Apr, 2020 05:47 PM

kanpur iit gave the conclusion india will win the battle of corona soon

कोरोना महामारी से हुई मौत पर कानपुर आईआईटी ने एक निष्कर्ष दिया है। प्रोफेसर महेंद्र वर्मा ने कहा कि दुनिया में जिस तरह से कोरोना महामारी से मौत हो रही है।

कानपुर: कोरोना महामारी से हुई मौत पर कानपुर आईआईटी ने एक निष्कर्ष दिया है। प्रोफेसर महेंद्र वर्मा ने कहा कि दुनिया में जिस तरह से कोरोना महामारी से मौत हो रही है। उस आधार पर भारत में की हालत काफी अच्छी है। उन्होंने कहा कि यदि भारत लॉकडाउन सही समय पर नहीं लागू करता तो भारत की भी हालात अमेरिका, इटली जैसी होती परंतु भारत ने सही समय पर लॉकडाउन को लागू कर के कोरोना महामारी पर काफी हद तक काबू पा लिया है। नहीं तो देश में कोरोना मरीजों की संख्या दोगुनी होती। उन्होंने आकलन के लिए वल्र्ड मीटर वेबसाइट का सहारा लिया। इससे कई तरह के निष्कर्ष सामने आए हैं।

PunjabKesari
 शुरुआत में संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ी
 निष्कर्ष में सामने आया है कि शुरुआत में संक्रमित लोगों की संख्या तेजी से बढ़ी। इसके बाद वृद्धि में एक ट्रेंड डेवलप हो गया जिसे पॉवर लॉ के नाम से जानते हैं। अमेरिका और फ्रांस में वृद्धि टी-टू स्तर की रही, जबकि दक्षिण कोरिया और स्पेन में यह टी-थ्री स्तर की रही। इन स्टेज में जाने के बाद इनकी ग्रोथ लीनियर यानी रेखीय हो गई और इसके बाद यह फ्लैट यानी बराबर हो गई। इससे निष्कर्ष यह निकलता है कि शुरुआत में जितनी गति थी, उसके बाद बढ़ी लेकिन फिर रेखीय स्थिति में चली गई और अन्त में सुधार की स्थिति दिखाई दी।

 वैज्ञानिकों का मानना है कि लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग से भारत की स्थिति ठीक
आईआईटी के वैज्ञानिकों का मानना है कि लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के चलते भारत में गति उतनी नहीं दिखी जितनी अपेक्षित थी। शुरू में यह तेजी से बढ़ी और इसके बाद यह रेखीय स्थिति में आने लगी। यह ग्राफ फ्लैट होने के नजदीक प्रतीत हो रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी जो आकलन किया है उसमें वर्तमान समय में डबलिंग की दर 7.3 दिन है। यह सुधार के लिए अच्छी बात कही जा सकती है। यही आकलन गणितीय आधार पर भी सामने आ रहा है।

विशेषज्ञों का कहना है कि आगे केस रोकना जरूरी
विशेषज्ञों का कहना है कि हाल ही में कुछ केस बढ़े हैं। यह इसलिए है क्योंकि परीक्षण संख्या बढ़ाई गई है। यह संख्या धीरे-धीरे स्थिर होगी और कर्व यानी ग्राफ फ्लैट हो जाएगा। जिन देशों में हमसे अधिक सुविधाएं थीं और जहां पहले से ही लॉकडाउन भी हुआ वह खतरे में अधिक आए। इसकी तुलना में भारत में ग्राफ अच्छा है। जल्द ही भारत इस महामारी पर काबू पा लेगा। 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!