बड़ा खुलासा: 69000 शिक्षक भर्ती के टॉपर को नहीं पता राष्ट्रपति का नाम

Edited By Ajay kumar, Updated: 07 Jun, 2020 06:05 PM

69000 teacher recruitment topper does not know the name of the president

69000 सहायक शिक्षक भर्ती मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। 150 में 142 नंबर लाने वाले टॉपर धर्मेंद्र कुमार पटेल को राष्ट्रपति का नाम तक नहीं पता है।

लखनऊ: 69000 सहायक शिक्षक भर्ती मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है। 150 में 142 नंबर लाने वाले टॉपर धर्मेंद्र कुमार पटेल को राष्ट्रपति का नाम तक नहीं पता है। यह हैरान करने वाली बात है, लेकिन यही सच है। धर्मेंद्र की योग्यता को लेकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि जिसे राष्ट्रपति तक का नाम नहीं पता वह टॉप कैसे कर सकता है। आपकाे ये भी बता दें कि इस परीक्षा में आईएएस-पीसीएस परीक्षा देने वाले अभ्यर्थी भी शामिल हुए थे। जिन्हें बड़ी मुश्किल से 130 तक ही प्राप्त हुए हैं। 


फर्जीवाड़ा कर पास हुए धर्मेंद्र, विनोद समेत तीन अभ्यर्थी गिरफ्तारः ASP
एएसपी अशोक वेंकटेश ने बताया कि 69 हजार सहायक अध्यापक भर्ती में फर्जीवाड़ा कर पास हुए धर्मेंद्र, विनोद समेत तीन अभ्यर्थियों को गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ में पता चला कि धर्मेंद्र को शिक्षक भर्ती परीक्षा में 150 में से 142 नंबर मिले थे। एएसपी ने धर्मेंद्र से जब पूछा कि देश का राष्ट्रपति कौन है? तो वह इसका जवाब नहीं दे सका। इसके बाद सामान्य ज्ञान के सवाल पूछे गए लेकिन वह जवाब नहीं दे पाया। एएसपी का कहना है कि उसकी खामोशी बता रही थी कि वह सहायक शिक्षक भर्ती में कैसे टॉपरों की सूची में शामिल हो गया। 

पकड़े गए आरोपियों की डायरी में मिले 20 अभ्यर्थियों के नाम: ASP
एएसपी ने बताया कि आरोपियों के पास से मिली डायरी में 20 अभ्यर्थियों के नाम सामने आए। इनमें 18 का चयन होने का पता चला है। अभी सिर्फ तीन पकड़े गए हैं। अन्य 17 की तलाश की जा रही है। उनके बारे में पता लगाया जा रहा है। उनकी गिरफ्तारी के बाद बाकी चीजें सामने आ सकेंगी। 

परीक्षा परिणाम के बाद लगे धांधली का आरोप
69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों ने परिणाम आने के बाद से ही धांधली का आरोप लगाया गया था। अभ्यर्थियों का कहना था कि फूलपुर, सोरांव, बहरिया आदि क्षेत्रों के अभ्यर्थियों ने सबसे ज्यादा अंक पाए हैं। आरोप था कि लगभग 34 अभ्यर्थियों ने 140 नंबर पाए जबकि टीईटी के दौरान 70 से 80 अंक थे। आरोप लगाया था कि पूर्व जिला पंचायत सदस्य डॉ. कृष्ण लाल पटेल ने अपने करीबियों को फर्जीवाड़ा करके ज्यादा नंबर दिलाए हैं। इसमें पेपर आउट से लेकर कई तरह की सेटिंग का आरोप लगाया था। 

धर्मेन्द्र कुमार पटेल का शैक्षिणिक रिकॉर्ड-

नाम: धर्मेंद्र कुमार पटेल। पता-सराय ममरेज, प्रयागराज। 

 शैक्षिणिक वर्ष  बाेर्ड  प्रतिशत
हाईस्कूल यूपी बोर्ड       1999     45.16 
इंटरमीडिएट यूपी बोर्ड           2003        51.6
स्नातक संपूर्णानंद संस्कृत विवि वाराणसी   2007      56.77
बीएड   संपूर्णानंद संस्कृत विवि वाराणसी     2012     57.1
टीईटी   परीक्षा नियामक प्राधिकारी   2018    126 अंक (150 में)
सुपर टीईटी   परीक्षा नियामक प्राधिकारी   2019  142 अंक (150 में)

 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!