योगी सरकार के इस अधिकारी ने पेश की मिसाल, गरीबों और मज़लूमो के लिए बने मसीहा.. जानें पूरा मामला!

Edited By Mamta Yadav, Updated: 04 Jun, 2022 06:26 PM

this officer of the yogi government set an example

कहते हैं बेहतरीन तोहफ़ा देना हो तो मदद कर देना, और जिसकी भी करो तुम हद कर देना, जी,हां इसी कहावत को सच करके दिखाया है प्रयागराज के चीफ फूड सेफ्टी ऑफिसर कमलेश कुमार त्रिपाठी ने। बता दें कि कमलेश कुमार त्रिपाठी एक बड़े पद पर तैनात हैं लेकिन उनकी...

प्रयागराज: कहते हैं बेहतरीन तोहफ़ा देना हो तो मदद कर देना, और जिसकी भी करो तुम हद कर देना, जी,हां इसी कहावत को सच करके दिखाया है प्रयागराज के चीफ फूड सेफ्टी ऑफिसर कमलेश कुमार त्रिपाठी ने। बता दें कि कमलेश कुमार त्रिपाठी एक बड़े पद पर तैनात हैं लेकिन उनकी दरियादिली एक मिसाल बन गई है। इन्होंने पिछले 2 महीनों से लगातार उन गरीब बच्चों और झुग्गी-झोपड़ी में रहने वाले बच्चों की मदद कर रहे हैं जो बेहद गरीब होते हैं।

PunjabKesari

प्रयागराज के अलग-अलग झुग्गी झोपड़ी में कमलेश जी उनकी मदद करते हुए दिख जाएंगे। कभी उनको कपड़े देते हैं, तो कभी कॉपी किताब, तू कभी इस तेज धूप में इन गरीबों बच्चों को टोपी, स्लीपर और फ्रूट जूस देते हुए नजर आ रहे हैं। कमलेश कुमार त्रिपाठी अपनी कार में यह सामान रख कर अलग-अलग झुग्गी झोपड़ी में जाते हैं और इन सभी गरीब बच्चों की निस्वार्थ सेवा करते हैं।

PunjabKesari
पंजाब केसरी टीम को जब इनके बारे में पता चला तो इन्होंने पहले तो संकोच किया लेकिन बाद में इनको लगा कि ऐसे कार्यों से और लोग प्रेरित होंगे तब जाकर के इन्होंने अपने कार्यों के बारे में बताया और दिखाया।

PunjabKesari

कमलेश त्रिपाठी ने बताया कि उनको ये प्रेरणा प्रयागराज के मशहूर समाजसेवी पंकज रिज़वानी से मिली है। अक्सर वह उनके किये कार्यो को मीडिया के माध्यम से देखते रहते थे। फिर उनसे मुलाकात हुई और उनके अंदर भी लोगों के प्रति निस्वार्थ मदद करने का भाव पैदा हुआ। कमलेश दारागंज, संगम क्षेत्र और परेड ग्राउंड के झुग्गी झोपड़ी में रह रहे गरीब बच्चों की मदद करते हुए नजर आए। टोपी, चप्पल और फ्रूट ड्रिंक पाकर बच्चे बेहद खुश नजर आए।

PunjabKesari

छोटी बच्ची प्रतिमा निषाद भी बेहद खुश नजर आई। उसने कहा कि दो दिन पहले ही उसकी चप्पल टूट गई थी जिसके बाद उसने भगवान से प्रार्थना की थी कि उसको चप्पल कहीं से मिल जाए क्योंकि चप्पल खरीदने के पैसे भी नहीं थे और जब आज उसको चप्पल टोपी और जूस मिला उसकी खुशी का ठिकाना भी नहीं रहा।

PunjabKesari

अधिकारी कमलेश कुमार त्रिपाठी ने बताया कि मार्च महीने से ही गर्मी अपना प्रचंड रूप दिखा रही है और मार्च के तीसरे हफ्ते में जब वह संगम क्षेत्र गए और थोड़ी देर के लिए जब उन्होंने अपने जूते उतारे तो उनको आभास हुआ की जमीन कितनी गर्म है। इस दौरान उन्होंने कई बच्चों को देखा जो नंगे पैर रेत पर चल रहे थे उसी दिन से उन्होंने ठाना की वह उन लोगों की मदद करेंगे जो इसके बेहद हकदार हैं। तब से वह निरंतर असहाय गरीब बच्चों के लिए मसीहा बने हुए हैं। हालांकि अब वह लोगों से भी अपील कर रहे हैं कि जो लोग सक्षम हो वह इंसानियत दिखाएं और जरूरतमंदों की मदद करें।

 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!