'उनके चश्मे की पावर...' बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री विवाद पर बोले ओम प्रकाश राजभर

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 23 Jan, 2023 02:12 PM

om prakash rajbhar spoke on the dhirendra shastri controversy

बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री इन दिनों सुर्खियों में हैं। उन पर अंधविश्वास फैलाने के आरोप लग रहे हैं। इस बीच यूपी में सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर भी...

मैनपुरी: बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री इन दिनों सुर्खियों में हैं। उन पर अंधविश्वास फैलाने के आरोप लग रहे हैं। इस बीच यूपी में सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर भी धीरेंद्र शास्त्री का समर्थन में आ गए हैं। उन्होंने धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री पर लग रहे आरोपों को लेकर कहा कि आरोप और प्रत्यारोप लगाना एक अलग विषय है, कोई भी संत या कोई कथावाचक आपस में बैर रखना नहीं सिखाता है। उन्होंने कहा, जो भी व्यासपीठ पर बैठता है वह ज्ञान और उपदेश ही देता है, अब उसे सुनने वालों के चश्मे की पावर अलग-अलग होती है कुछ लोग उसमें बुराई ढूंढते हैं तो कुछ लोग उससे सीख लेते हैं। बता दें कि राजभर यूपी के मैनपुरी में एक निजी कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे।
PunjabKesari
कई बीजेपी नेता और हिंदू संगठन शास्त्री का समर्थन कर चुके हैं। इससे पहले स्वामी रामदेव ने कहा है, "कुछ पाखंडी धीरेंद्र शास्त्री पर टूटकर पड़े हैं और पूछ रहे हैं कि बालाजी की कृपा क्या है, हनुमान जी की कृपा क्या है?"  स्वामी रामदेव ने कहा है, "जिन्हें बाहर की आंखों से देखना हो, वो धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री से पूछें, लेकिन जिन्हें तर्क-वितर्क करना हो, वो रामभद्राचार्य जी के पास आ जाओ और चमत्कार देखना हो, तो इनके शिष्य धीरेंद्र शास्त्री के पास चले जाओ।" बाबा रामदेव ने कहा, "मैं मीडिया के लोगों को ज्यादा फोन नहीं करता, लेकिन कहना चाहता हूं कि सब जगह पाखंड मत ढूंढो, ये सच है जो दिख रहा है और जो आंखों से दिख रहा है, वो एक प्रतिशत है। आप लोग सनातन को आगे बढ़ाने के लिए काम करें।"
PunjabKesari
बता दें कि धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को लेकर विवाद तब बढ़ा जब महाराष्ट्र के नागपुर की एक संस्था ने उन्हें चुनौती दी। उनपर चमत्कार के नाम पर अंधविश्वास फैलाने का आरोप लगाया था, उनपर जादू-टोना का भी आरोप है। आरोप लगाने वाली संस्था का नाम अंध श्रद्धा निर्मूलन समिति है। इसके बाद तरह-तरह की चर्चाएं चल रही हैं। संत समाज और कई कथावाचक भी बाबा के समर्थन में उतर पड़े हैं। वहीं धीरेंद्र शास्त्री के निशाने पर ईसाई मिशनरी और वामपंथी हैं। उनका कहना है कि सनातन धर्म को बदनाम करने की साजिश चल रही है। वहीं बाबा पर आरोप लगाने वाली संस्था का कहना है कि उन्होंने उसकी चुनौती स्वीकार नहीं की और नागपुर से भाग गए। इसपर बाबा ने कहा कि जब वे नागपुर में थे तब वे लोग क्यों नहीं आए।  

Related Story

Pakistan

137/8

20.0

England

138/5

19.0

England win by 5 wickets

RR 6.85
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!