आप भी खोज रहे हैं ऑनलाइन दूल्हा या दुल्हन तो हो जाएं सावधान! वरना लूट सकती है जिन्दगी, जानकारी के लिए पढ़े पूरी खबर

Edited By Ramkesh,Updated: 12 Feb, 2024 02:34 PM

if you are also searching for a bride or groom online then be careful

हम आजकल डिजिटल युग में जी रहे हैं जहां पर पारंपरिक पुराने जमाने के रीति रिवाज को छोड़कर इंटरनेट के माध्यम से अपने सभी काम कर रहे रहे हैं। वहीं आज कल लोग ऑनलाइन दूल्हा या दुल्हन भी खोज रहे। इसके लिए मेट्रोमोनियल साइट का सहारा लेते है। ऐसे में कुछ...

लखनऊ: हम आजकल डिजिटल युग में जी रहे हैं जहां पर पारंपरिक पुराने जमाने के रीति रिवाज को छोड़कर इंटरनेट के माध्यम से अपने सभी काम कर रहे रहे हैं। वहीं आज कल लोग ऑनलाइन दूल्हा या दुल्हन भी खोज रहे। इसके लिए मेट्रोमोनियल साइट का सहारा लेते है। ऐसे में कुछ लोगों के साथ धोखा भी हो जाता है। तो हम आज ऐसे फ्रॉड के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे सुनकर आप के होश उड़ जाएंगे। दरअसल, उन्नाव जिले की रहने वाली श्रेष्ठा ठाकुर जो शामली में डिप्टी एसपी के पद पर तैनात हैं वह भी इस फ्रॉड का शिकार हो गई है।

PunjabKesari

आप को बताते हैं सिलसिलेवार घटना
दरअसल, उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले की रहने वाली श्रेष्ठा ठाकुर ने 2012 में UPPSC की परीक्षा पास की थी। उसके बाद उन्हे DSP के पद पर पोस्टिंग मिली। साल 2017 में वो बुलंदशहर जिले में सर्किल ऑफिसर के पद पर तैनात थीं। इस दौरान चालान काटने को लेकर उनकी एक पार्टी के  कार्यकर्ताओं से बीच सड़क जोरदार बहस हुई थी। जिसका वीडियो काफी वायरल हुआ था। बाद में उनका ट्रांसफर नेपाल बॉर्डर के पास बहराइच जिले में हो गया था। 

PunjabKesari

मैट्रिमोनियल साइट से हुई थी शादी
श्रेष्ठा ठाकुर के मुताबिक साल 2018 में एक मैट्रिमोनियल साइट पर दोनो की मुलाकात हुई थी डिप्टी एसपी श्रेष्ठा ठाकुर ने जिस  रोहित राज को आईआरएस अधिकारी समझकर वह फ्रॉड था। जब DSP श्रेष्ठा ठाकुर ने पता लगाया तो वह फर्जी अधिकारी निकाला। लोक लज्जा की वजह से श्रेष्ठा ठाकुर ने अपने वैवाहिक जीवन को चलाने का प्रयास किया लेकिन पति DSP श्रेष्ठा ठाकुर के नाम पर ठगी कर रहा था जिससे परेशान होकर तलाक दे दिया।

PunjabKesari

कैसे हुए खेल?
साल 2008 में रोहित राज नामक एक शख्स सच में आईआरएस के लिए सिलेक्ट हुआ था। उसकी तैनाती रांची में बतौर डिप्टी कमिश्नर सही पाई गई थी। दरअसल ये सब कुछ मिलते-जुलते नाम की वजह से हुआ था, जिसके जरिए आरोपी ने श्रेष्ठा ठाकुर के साथ धोखाधड़ी की थी। जानकारी सही मिलने पर रोहित और श्रेष्ठा की शादी हो गई थी। लेकिन शादी के बाद जब सच सामने आया तो महिला पुलिस अधिकारी सन्न रह गई। उन्हें पता चल गया कि उनका पति कोई आईआरएस अधिकारी नहीं है, लेकिन शादी को बचाए रखने के लिए उन्होंने इस कड़वे घूंट को पीने का प्रयास किया था। लेकिन उनके पति की धोखाधड़ी की आदत बढ़ती गई। उन्होंने धोखेबाज से तलाक ले लिया। वो उनके नाम पर दूसरे लोगों से भी ठगी करने लगा। इससे तंग आकर डिप्टी एसपी ने गाजियाबाद के कौशांबी थाने में पूर्व पति के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

हरकतों से बाज नहीं आया पति
रोहित राज महिला पुलिस अधिकारी के तैनाती वाले जिलों में जाकर उनके नाम पर ठगी करने लगा। फिलहाल वो गाजियाबाद के कौशांबी थाना क्षेत्र में आकर रह रहा है। उसके द्वारा लोगों से ठगी करने की शिकायत लगातार मिलने लगी, तो परेशान होकर श्रेष्ठा ठाकुर ने थाने में शिकायत दर्ज कराई है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज करके गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले की जांच की जा रही है। इसमें पैसों के धोखाधड़ी की बात भी सामने आई है। आरोपी ने महिला पुलिस अधिकारी से लाखों रुपए ठगे हैं। अब आप ही सोचिए जब एक अधिकारी के साथ इतना बड़ा धोखा हो सकता है तो आम लोगों के साथ क्या होगा इसका अंदाजा लगा पाना मुश्किल है। हमारी आप से सलाह है कि ऑनलाइन दूल्हा या दुल्हन खोज रहे हैं तो पूरी जानकारी प्रत्यक्ष रूप से जुटा ले नहीं तो आप भी किसी फ्रॉड के शिकार हो सकते हैं। 

Related Story

Trending Topics

India

397/4

50.0

New Zealand

327/10

48.5

India win by 70 runs

RR 7.94
img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!