कानपुर में चलता है दावत ए इस्लामी का ट्रेनिंग सेंटर, युवाओं को बरगलाकर बनाया जाता है जेहादी... यही से जुड़ा है कन्हैया लाल का हत्यारा

Edited By Imran, Updated: 30 Jun, 2022 03:04 PM

dawat e islami s training center runs in kanpur

राजस्थान के उदयपुर में हुई टेलर की हत्या करने वाला हत्यारा गौस मोहम्मद पाकिस्तान के कुख्यात संगठन दावत ए इस्लामी से जुड़ा है। दावत ए इस्लामी के भारत में तीन सेंटर्स हैं, इनमें से एक कानपुर में है।

कानपुर: राजस्थान के उदयपुर में हुई टेलर की हत्या करने वाला हत्यारा गौस मोहम्मद पाकिस्तान के कुख्यात संगठन दावत ए इस्लामी से जुड़ा है। दावत ए इस्लामी के भारत में तीन सेंटर्स हैं, इनमें से एक कानपुर में है। जानकारी के अनुसार ऐसे सेंटरों में युवाओं को बरगलाया जाता है और उन्हें जिहादी बनाने का काम किया जाता है। 

कानपुर शहर में दावत ए इस्लामी का कार्यालय डिप्टी पड़ाव पर है। पिछले वर्ष मतांतरण को लेकर भी सूफी-इस्लामिक बोर्ड ने दावत- ए-इस्लामी पर आरोप लगाए थे। इसके अलावा मुस्लिम क्षेत्रों में इस संगठन द्वारा बड़े पैमाने पर चंदा एकत्र किया गया था इस मामले में भी काफी विवाद हुआ था जिसके बाद मुस्लिम क्षेत्रों के चौराहों पर लगे दानपात्र हटाए गए थे। एक अनुमान के मुताबिक कानपुर में इस जमात के सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद हैं।

बता दें कि कानपुर में दावत ए इस्लामी के मरकज इधर से उधर होते रहते है।  सबसे पहले मरकज कर्नलगंज स्थित एक मस्जिद में था। बाद में कर्नलगंज लकड़मंडी स्थित एक मस्जिद में बनाया गया। अब डिप्टी पड़ाव गुरबत उल्लाह पार्क स्थित एक मस्जिद में मरकज बनाया गया है। कानपुर में 1989 से पाकिस्तान से उलमा का एक प्रतिनिधिमंडल आया था। इसके बाद शहर में दावत-ए-इस्लामी ने पांव जमाए। 1994 में हलीम कालेज ग्राउंड में तीन दिवसीय इज्तेमा (सेमिनार) आयोजित किया गया था। इस दौरान पाकिस्तान से मौलाना इलियास कादरी ने भी शिरकत की थी। उसके बाद वर्ष 2000 में नारामऊ में बड़ा इज्तेमा किया गया था।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!