अब विदेशों में भी चख सकेंगे उत्तराखंड के आम, शहद व राजमा का स्वाद...धामी ने वाहनों को किया फ्लैग ऑफ

Edited By Nitika, Updated: 06 Aug, 2022 12:49 PM

you can able to taste the mango of uttarakhand in abroad

उत्तराखंड का आम, शहद और राजमा का स्वाद अब विदेशों में भी चख सकेंगे। इसकी शुरुआत पहली बार राज्य सरकार ने इसकी पहली खेप के निर्यात से कर दी है।

 

देहरादूनः उत्तराखंड का आम, शहद और राजमा का स्वाद अब विदेशों में भी चख सकेंगे। इसकी शुरुआत पहली बार राज्य सरकार ने इसकी पहली खेप के निर्यात से कर दी है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने शिविर कार्यालय में एपिडा के माध्यम से राज्य में उत्पादित इन खाद्य वस्तुओं की प्रथम खेप अन्तरराष्ट्रीय बाजार में निर्यात हेतु ले जाने वाले वाहनों का फ्लैग ऑफ किया।
PunjabKesari
इस अवसर पर 1.5 टन आम, 28 टन राजमा एवं 80 टन शहद का अन्तरराष्ट्रीय बाजार के लिए निर्यात किया गया। धामी ने कहा कि एपिडा के सहयोग से अन्तरराष्ट्रीय बाजार के लिए राज्य के जो उत्पाद भेजे जा रहे हैं, यह सराहनीय पहल है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि आने वाले समय में उत्तराखंड के स्थानीय उत्पादों की अन्तरराष्ट्रीय मार्केटिंग के लिए गुणात्मक वृद्धि होगी। उत्पादन को कैसे अच्छी मार्केटिंग मिले, इस दिशा में सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। उत्पादों की ब्रांडिंग, पैकेजिंग और मार्केटिंग पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारे स्थानीय उत्पादों को अधिक से अधिक बढ़ावा मिले, इसके लिए और अधिक प्रयासों की जरूरत है। राज्य में किसानों की आजीविका को बढ़ाने के लिए एवं आवश्यक सभी व्यवस्थाओं को और प्रभावी बनाने के लिए कृषि कलेंडर भी बनाया गया है।
PunjabKesari
मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के छोटे कृषकों की आर्थिकी को बढ़ाने के लिए कलस्टर के विकास हेतु, सहकारिता, कृषि एवं उद्यान विभाग के माध्यम से अनेक प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि बजट से पूर्व कृषि क्षेत्र के विशेषज्ञों के साथ संवाद किया गया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसानों की आय दोगुनी करने का जो संकल्प लिया है, उस संकल्प को सिद्धि तक पहुंचाने के लिए राज्य सरकार द्वारा पूरे प्रयास किए जा रहे हैं। धामी ने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार की कृषि कल्याण से संबंधित योजनाओं को समाज के अंतिम पंक्ति के लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। वर्ष 2025 में उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस की रजत जयंती मनाएगा, तब तक किसानों की आजीविका वृद्धि के लिए कृषि, उद्यान, सिंचाई एवं अन्य संबंधित विभाग पॉयलट प्रोजेक्ट के रूप में क्या कर सकते हैं, इस पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि राज्य के रजत जयंती वर्ष पर सभी विभागों को कुछ ऐसे कार्य करने होंगे, जो देश एवं हिमालयी राज्यों के लिए मॉडल हों। उन्होंने कहा कि राज्य में जल्द किसान प्रोत्साहन योजना लाई जाएगी।
PunjabKesari
कृषि मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में केन्द्र सरकार द्वारा एवं मुख्यमंत्री धामी के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा किसानों की आय दोगुनी करने के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड जब राज्य स्थापना दिवस की रजत जयंती मनाएगा, तब तक कृषि एवं उद्यान के क्षेत्र में राज्य में उत्पादन दोगुना किए जाने का लक्ष्य रखा गया है। किसानों को उच्च गुणवत्तायुक्त पौध उपलब्ध करवाने के लिए नर्सरी बनाई जा रही है।

कृषि सचिव शैलेश बगोली ने कहा कि राज्य के उत्पादों को बढ़ावा देने के साथ ही उत्पादों को अच्छा मार्केट मिले इस दिशा में लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। उत्पादों के वैल्यू एडिशन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य से प्रथम बार राज्य के कास्तकारों द्वारा उत्पादित आम की चौंसा एवं लंगड़ा प्रजातियों के उच्च गुणवत्तायुक्त फलों का निर्यात दुबई को किया जा रहा है। किसान उत्पादक संगठनों द्वारा उत्पादित उच्च गुणवत्तायुक्त शहद का निर्यात संयुक्त राज्य अमेरिका को किया जा रहा है। राजमा के निर्यात को बढ़ावा देते हुए राज्य के कृषकों द्वारा उत्पादित उच्च गुणवत्तायुक्त राजमा का निर्यात भी संयुक्त राज्य अमेरिका को किया जा रहा है।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!