UP में जुमे की नमाज के लिए धर्मगुरूओं से किया गया जनसंपर्क: ADG बोले- प्रदेश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम

Edited By Mamta Yadav, Updated: 16 Jun, 2022 09:20 PM

public relations with religious leaders for friday prayers in up adg said

देश के विभिन्न राज्यों में पिछली 10 जून को जुमे की नमाज़ के बाद हुए उपद्रव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को हर हाल में शांति-व्यवस्था बनाये रखने के लिये सुरक्षा के चाक-चौबंद बंदोबस्त किये गये हैं। सभी संवेदनशील स्थलों पर वरिष्ठ अधिकारियों की...

लखनऊ: देश के विभिन्न राज्यों में पिछली 10 जून को जुमे की नमाज़ के बाद हुए उपद्रव के मद्देनजर उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को हर हाल में शांति-व्यवस्था बनाये रखने के लिये सुरक्षा के चाक-चौबंद बंदोबस्त किये गये हैं। सभी संवेदनशील स्थलों पर वरिष्ठ अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है ताकि किसी भी प्रकार की गड़बड़ी न हो सके।

प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने बताया ''जुमे की नमाज़ के लिये राज्य में व्यापक सुरक्षा बंदोबस्त किये गये हैं। विभिन्न जिलों में धर्म गुरुओं, नागरिक समाज और शांति समिति के सदस्यों के साथ बैठकें की जा रही हैं। इन बैठकों में सम्बन्धित थानाध्यक्ष, पुलिस चौकी प्रभारियों के साथ-साथ वरिष्ठ क्षेत्रीय तथा परिक्षेत्रीय पुलिस अफसर भी भाग ले रहे हैं।'' उन्होंने बताया कि इसके अलावा शांति व्यवस्था बनाये रखने में सिविल डिफेंस और प्रदेश पुलिस के ‘डिजिटल वालंटियर्स' की मदद भी ली जा रही है।

गृह विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बृहस्पतिवार को बताया कि गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव अवनीश कुमार अवस्थी और पुलिस महानिदेशक डी एस चौहान ने संयुक्त रूप से वीडियो कांन्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के सभी मंडलों, जोन, रेंज एवं जिलों में सुरक्षा बंदोबस्त की गहन समीक्षा की। उनके मुताबिक, अधिकारियों को साफ तौर पर आगाह किया गया है कि किसी भी प्रकार की ढिलायी पाये जाने पर सम्बन्धित अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने बताया, “प्रदेश भर में कड़ी सतर्कता बरतने तथा किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति से कड़ाई से निपटने के निर्देश दिये गये हैं। सभी जिलों में पुलिस द्वारा पैदल गश्त और अर्धसैनिक बलों द्वारा फ्लैग मार्च किये जाने के भी निर्देश दिये गये हैं। सभी संवेदनशील स्थलों पर वरिष्ठ अधिकारियों की ड्यूटी लगायी गयी है ताकि किसी भी प्रकार की गड़बड़ी न हो सके।”

सूत्रों के मुताबिक, वीडियो कान्फ्रेंस में जिले के अफसरों ने बताया कि प्रशासनिक तथा पुलिस अधिकारियों ने प्रदेश भर में सभी प्रमुख धर्म गुरुओं से संवाद कर शांति व्यवस्था बनाये रखने में सहयोग मांगा है। उन्होंने बताया, “थाना स्तर पर शांति समिति की बैठकों का आयोजन भी किया गया है तथा सिविल डिफेंस के कर्मियों को भी शांति एवं व्यवस्था बनाये रखने की जिम्मेदारी सौंपी गयी है। पुलिस सेक्टर योजना को भी लागू किया गया है और सभी संवेदनशील स्थलों पर सीसीटीवी, वीडियो कैमरे व ड्रोन से आवश्यकतानुसार निगरानी की जायेगी।”

गौरतलब है कि भाजपा की तत्कालीन प्रवक्ता नुपुर शर्मा द्वारा एक समाचार चैनल पर बहस के दौरान पैगम्बर मुहम्मद के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी किये जाने के विरोध में पिछली 10 जून को जुमे की नमाज़ के बाद उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में हिंसा भड़क उठी थी। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज, सहारनपुर, अलीगढ़, हाथरस, फिरोजाबाद तथा कुछ अन्य जिलों में हिंसक घटनाएं हुई थीं। इस मामले में 400 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!