जौनपुर में 267 भट्ठा संचालकों की ईंट जब्त कर होगी नीलामी, निर्देश के बाद भी जमा नहीं की 10 करोड़ रुपये की रॉयल्टी

Edited By Mamta Yadav, Updated: 29 Jun, 2022 07:49 PM

auction will be held after confiscating bricks in jaunpur

उत्तर प्रदेश में मानसून के दस्तक देने के साथ ही ईंट भट्ठों की चिमनियां ठंढी होने लगी हैं और सीजन खत्म होने के बाद भी जिले के 267 भट्ठा संचालकों ने सरकारी खजाने में 10 करोड़ रुपये की रॉयल्टी अभी तक जमा नहीं की है। वसूली के लिए कई बार अभियान चलाने के...

जौनपुर: उत्तर प्रदेश में मानसून के दस्तक देने के साथ ही ईंट भट्ठों की चिमनियां ठंढी होने लगी हैं और सीजन खत्म होने के बाद भी जिले के 267 भट्ठा संचालकों ने सरकारी खजाने में 10 करोड़ रुपये की रॉयल्टी अभी तक जमा नहीं की है। वसूली के लिए कई बार अभियान चलाने के बाद भी इन पर कोई असर नहीं हुआ है। जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के निर्देश पर इन बकायेदारों की ईंट जब्त करके नीलाम करने की तैयारी की गई है।       

जिला खनन अधिकारी विनीत सिंह ने बुधवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि 2017-18 में 7.50 करोड़ रुपये रॉयल्टी बकाया होने पर संचालकों को आरसी जारी की गई थी। बार-बार बैठकों में चेतावनी के बाद भी बकाये का भुगतान नहीं हुआ। इसके साथ ही व 2019, 2020, 2021 व 2022 की लगभग 12.50 करोड़ रुपये की देनदारी हो गई। बकाया वसूलने के लिए जिला प्रशासन ने अभियान चलाकर बुलडोजर से कच्ची ईंट नष्ट करा दी और भट्ठे में पानी छोड़ा गया। इसका असर रहा कि 10 करोड़ बकाया जमा किया गया। अभी भी 10 करोड़ रुपये की देनदारी है।      

सिंह ने बताया ककि बकायेदारों में 267 ऐसे संचालक शामिल हैं। बार-बार चेतावनी के बाद भी इन पर असर नहीं है। ईंट जब्त कर इन्हें नीलाम करने की तैयारी है। उन्होंने बताया कि जिलाधिकारी ने भट्ठा संचालकों के साथ बैठक कर जल्द से जल्द बकाया भुगतान के लिए कहा था। कई बार समय देने के बाद भी संचालक बकाया देने में रुचि नहीं ले रहे हैं। रॉयल्टी का भुगतान नहीं करने वाले भट्ठा मालिकों पर कारर्वाई के लिए अभियान चलाया जाएगा। पहले भट्ठा संचालकों को अंतिम चेतावनी दी जाएगी। इसके बाद राजस्व वसूली के लिए ईंट जब्त करके उसे नीलाम किया जाएगा।

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!