बेकाबू कोरोना पर भड़के अनुराग भदौरिया, योगी सरकार पर साधा निशाना

Edited By Ramkesh,Updated: 19 Apr, 2021 02:36 PM

anurag bhadauria raging on uncontrollable corona targeted at yogi government

उत्तर प्रदेश में कोरोना बेकाबू हो चुका है 24 घंटे कोरोना के 30 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए है वही राजधानी लखनऊ में भी स्थिति नियंत्रण से बाहर हो चुकी है। प्रदेश के हालत लगातार बिगड़ते जा रहे है। वही विपक्ष ने भी सरकार को कटघरे में खड़ा करना शुरू...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना बेकाबू हो चुका है 24 घंटे कोरोना के 30 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए है वही राजधानी लखनऊ में भी स्थिति नियंत्रण से बाहर हो चुकी है। प्रदेश के हालत लगातार बिगड़ते जा रहे है। वही विपक्ष ने भी सरकार को कटघरे में खड़ा करना शुरू कर दिया है। इसी क्रम में सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार लोगों की जान की परवाह न कर के चुनाव कराने में व्यस्त है। बता दें कि  श्मशान पर घाटों पर शवों की संख्या कम नहीं हो रही है। रविवार को यह आंकड़ा बढ़कर 210 पहुंच गया। माना जा रहा है कि आधे से अधिक शव कोरोना संक्रमित लोगों के हैं। शवों के बढ़ते आंकड़े उन लोगों को भी थकाने और डराने लगे हैं जो अंतिम संस्कार के काम में लगे हैं। वहीं, कब्र खोदने वाले भी कम पड़ गए हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद अब लखनऊ में एक अपर निदेशक के साथ तीन संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य सेवाओं के संबंध में फैसला लेंगे। कोरोना संक्रमण के तेजी से बढ़ते प्रसार के बीच में लखनऊ के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने लगभग सरेंडर कर दिया था। उनके शिथिल होने के कारण लखनऊ में स्थितियां दिन पर दिन विकराल होती गईं। यहां पर संक्रमितों को ना तो हॉस्पिटल में बेड मिल पा रहा था और ना ही कोई बेहतर चिकित्सा सुविधा। इसके बाद योगी आदित्यनाथ सरकार ने मामले का संज्ञान लिया। लखनऊ में काबिल अफसर की कमी सरकार को भी खली और यहां पर चार वरिष्ठ अफसरों को तैनात किया गया है। एक अपर निदेशक के साथ तीन संयुक्त निदेशक लखनऊ की स्थिति संभालने के लिए भेजे गए हैं।

लखनऊ के अस्पतालों में ऑक्सीजन के सिलेंडर को लेकर मची मारामारी मची हुई हैं इसी बीच प्रदेश में ऑक्सीजन की सुगम उपलब्धता सुनिश्चित करने के हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।डीआरडीओ की सहायता से अगले दो-तीन दिनों में 220 सिलिंडर की क्षमता वाला नया ऑक्सीजन प्लांट स्थापित कर क्रियाशील कर दिया जाएगा।इसके साथ-साथ प्रदेश के अलग-अलग स्थानों पर हर सप्ताह तीन-तीन नए ऑक्सीजन प्लांट भी स्थापित किए जाएंगे। नवीन प्लांट्स के क्रियाशील होने के बाद प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता और बेहतर हो जाएगी।भारत सरकार से 750 मीट्रिक टन ऑक्सीजन आवंटित हो गया है। आवश्यकतानुसार और मांग प्रेषित करें। इसमें देरी न हो। इसके वितरण में पारदर्शिता रखी जाए। कतिपय क्षेत्रों से ऑक्सीजन सिलिंडर के अभाव की सूचना प्राप्त हुई है। देश के सभी सिलिंडर आपूर्तिकर्ताओं से संवाद स्थापित करें। आवश्यकतानुसार सिलिंडरों की आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। इन कार्यों के लिए धन का कोई अभाव नहीं है।वर्तमान स्थिति में न्यूनतम 100 बेड वाले सभी अस्पतालों में स्वयं का ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने की दिशा में कार्यवाही की जाए। इस संबंध में विधायक निधि का सहयोग लिया जा सकता है।

इसके अलावा लखनऊ में डीआरडीओ की मदद से 250 बेड का एक बड़ा अस्पताल तैयार किया जा रहा है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की पहल पर लखनऊ में भी डीआरडीओ (डिफेंस रिसर्च एंड डेवलेपलंट ऑर्गनाइजेशन) कोविड फैसिलिटी वाला तीन सौ बेड का जल्द अस्पताल बनाने जा रहा है। डीआरडीओ ने अवध शिल्प ग्राम को अस्थाई कोविड अस्पताल बनाने की हरी झंडी दे दी है, जिसे जल्द तैयार कर दिया जाएगा, ताकि बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच कोरोना संक्रमितों को राहत मिल सके। यहां पर सेना मेडिकल कोर की मदद से चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

डीआरडीओ द्वारा अवध शिल्प ग्राम को अस्थाई अस्पताल बनाने को लेकर लिए गए फैसले के बाद प्रभारी डीएम रोशन जैकब ने जमीन के अधिग्रहण के लिए आदेश भी जारी कर दिए हैं। डीआरडीओ यहां मिशन मोड के तहत करीब 250 से 300 बेड बनाने की तैयारी कर रहा है। यहां पर एक सप्ताह में मरीजों को भर्ती करने की व्यवस्था शुरू हो जाने की संभावना है। कोरोना के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि को देखते हुए मरीजों के लिए बड़ी संख्या में बेड्स तैयार किए जा रहे हैं। 

Related Story

Trending Topics

India

Australia

Match will be start at 27 Sep,2023 01:30 PM

img title
img title

Be on the top of everything happening around the world.

Try Premium Service.

Subscribe Now!