अग्निपथ पर सुनहरे भविष्य के अवसरों के अनेकानेक मार्ग: योगी आदित्यनाथ

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 20 Jun, 2022 05:41 PM

yogi adityanath says many avenues for golden future opportunities

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को युवाओं से कहा कि अग्निपथ वह पथ है जहां पहुंचकर सुनहरे भविष्य के अवसरों के अनेकानेक मार्ग नजर आएंगे। गोरखनाथ मंदिर...

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को युवाओं से कहा कि अग्निपथ वह पथ है जहां पहुंचकर सुनहरे भविष्य के अवसरों के अनेकानेक मार्ग नजर आएंगे। गोरखनाथ मंदिर में जनता दर्शन के दौरान युवाओं का मार्गदर्शन करते हुए योगी ने कहा कि जीवन तो सभी जीते हैं लेकिन उसका जीवन सर्वाधिक सम्मानीय हो जाता है जिसे प्रत्यक्ष रूप से राष्ट्र की सुरक्षा में रत होकर सेवा का अवसर मिलता है। मां भारती की सेवा करने का सौभाग्य विरलों को मिलता है।

युवावस्था की दहलीज पर चार साल मान, सम्मान, स्वाभिमान व आर्थिक स्वावलंबन के साथ पूरी जाबांजी से देश की सेवा, इसके बाद सेना-अर्द्धसैनिक बलों, नागरिक पुलिस समेत केंद्र व राज्य सरकार के अनेकानेक विभागों में सेवायोजन और करीब 12 लाख रुपये की अपनी बचत पूंजी व सरकार के अनुदानित ऋण से स्वरोजगार के व्यापक अवसर युवाओं के पास होंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार का विरोध करने वाले राजनीतिक दल इस अति महत्वपूर्ण और अवसरप्रदायी योजना का तथ्यहीन और तकर्हीन प्रलाप कर देश के नौजवानों को बरगला रहे हैं जबकि देश की सेवा को सर्वोच्च प्राथमिकता देने वाले सेना के वर्तमान और पूर्व सैनिक-अधिकारी इसे अभूतपूर्व कदम मान रहे हैं।

सीएम योगी ने कहा कि यह कहना कि अग्निवीरों को भविष्य असुरक्षित रहेगा, वह चार साल की सेवा के बाद किसी काम लायक नहीं रह जाएंगे, समाज के लिए खतरा बन जाएंगे, क्षुद्र विचार है। उन्होंने कहा कि यूएसए, यूनाइटेड किंगडम, रूस, इजराइल, चीन व फ्रांस जैसे देशों में भी युवा इस तरह की योजना से जुड़कर देश सेवा और उज्ज्वल भविष्य से गौरवानुभूति कर रहे हैं। अग्निपथ ऐसी योजना है जो युवाओं को चार साल सेना की सेवा के साथ ही समाज को अनुशासित और प्रशिक्षित नागरिक उपलब्ध कराएगी। उन्होने युवाओं की भ्रांतियों को दूर करते हुए कहा कि सरकार अग्निवीरों को प्रतिमाह तीस से चालीस हजार रुपये वेतन देने के साथ ही बीमा, जोखिम भत्ता, कैंटीन के साथ अन्य सुविधाएं भी देगी।

उन्होंने कहा कि प्रभु न करें कि किसी अग्निवीर के साथ अनहोनी हो लेकिन किन्हीं परिस्थितियों में ऐसा हुआ तो शहीद होने पर सरकार उनके परिजन को एक करोड़ रुपये तथा बचे हुए सेवाकाल का पूर्ण वेतन भुगतान करेगी। दिव्यांगता होने को दशा में शेष सेवावधि का पूर्ण वेतन भुगतान के अलावा 44 लाख रुपये तक दिव्यांगता क्षतिपूर्ति दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने साफ किया कि सेवा पूर्ण करने के बाद अग्निवीरों के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा कम्बाइंड आम्डर् पुलिस फोर्सेज तथा असम राइफल्स में 10 प्रतिशत रिक्तियों के साथ आयु सीमा में भी छूट दी जाएगी।

रक्षा से जुड़े लोक उद्यमों (डिफेंस पीएसयू), कोस्ट गाडर् और डिफेंस सिविलियन की भर्ती में भी 10 प्रतिशत रिक्तियां अग्निवीरों के लिए होंगी। उत्तर प्रदेश सरकार भी पुलिस व अन्य भर्तियों में अग्निवीरों को विशेष आरक्षण देगी। और, यदि अग्निवीर अपनी सेवा पूर्णता के बाद उद्यमी या कारोबारी बनना चाहेंगे तो उन्हें कई स्वरोजगार योजनाओं के जरिये भारी अनुदान पर ऋण उपलब्ध कराने के साथ तमाम सुविधाएं दी जाएंगी। इसके लिए उनके पास अपनी कमाई के करीब 12 लाख रुपये पहले से मौजूद होंगे।


 

Related Story

Trending Topics

Test Innings
England

India

134/5

India are 134 for 5

RR 3.72
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!