आगरा को कोरोना से मिली निजात, लेकिन डेंगू और वायरल फीवर ने लोगों का जीना किया दूभर

Edited By Tamanna Bhardwaj, Updated: 08 Sep, 2021 05:49 PM

उत्तर प्रदेश में इन दिनों रहस्यमयी वायरल फीवर और डेंगू के मामले चर्म पर हैं। यूपी के कई इलाके इस नई बीमारी के प्रकोप को झेल रहा है, वहीं इस बीच कोरोना को लेकर ताजनगरी आगरा से राहत देने वाली खबर सामने आई है...

आगरा: उत्तर प्रदेश में इन दिनों रहस्यमयी वायरल फीवर और डेंगू के मामले चर्म पर हैं। यूपी के कई इलाके इस नई बीमारी के प्रकोप को झेल रहें है, वहीं इस बीच कोरोना को लेकर ताजनगरी आगरा से राहत देने वाली खबर सामने आई है। दूसरी लहर झेलने के बाद इस जिले में पिछले पांच दिनों से कोरोना का कोई नया केस सामने नहीं आया है। वर्तमान में कोरोना के केवल 7 केस सक्रिय़ है। कोरोना की मार से आगरा भले ही निजात पा चुका हो, लेकिन डेंगू और वायरल फीवर की चपेट बरकरार है। वहीं नई बीमारी से ग्रसित होने वालों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है।
PunjabKesari
बता दें कि एसएन मेडिकल कॉलेज में इस समय डेंगू ग्रस्त 29 मरीजों का इलाज चल रहा है। मेडिसिन विभाग में 16 और बाल रोग विभाग में 13 बच्चे भर्ती हैं। इसमें आगरा के 8 संदिग्ध मरीज हैं। वहीं, डेंगू के लक्षण वाला एक बच्चा जिला अस्पताल में भर्ती हुआ है। आगरा का एसएन मेडिकल कॉलेज हो या फिर जिला अस्पताल की ओपीडी सुबह 8 बजे से ही मरीजों की लंबी लाइन लगना शुरू हो जाता है। इसमें बड़ी संख्या में गांवों से मरीज आ रहे हैं। ओपीडी में एक दिन में 1200 से ज्यादा मरीज आ रहे हैं, जिसमें 40 फीसद बुखार, जुकाम और खांसी से पीड़ित हैं। वहीं आगरा के बाह तहसील के हुसैनपुरा, नीम डांडा और इमलीपुरा गांव में डेंगू के लक्षण वाले सबसे ज्यादा मरीज मिले है। इन गावों में हर में लोग बुखार से पीड़ित है। इसके अलावा पिनाहट टीकमपुरा,  उमरैठापुरा और  उटसाना में भी बुखार के रोगियों की संख्या बढ़ रही है। वहीं, बरहन के गांव सराय जयराम में भी बड़ी संख्या में लोग बीमार हैं और घर-घर चारपाई बिछी हैं।
PunjabKesari
जिला प्रशासन का दावा- बीमारी से निपटने के लिए तैयारी पूरी 
जिला प्रशासन का दावा है कि डेंगू और वायरल फीवर के बढ़ते केसों की रोकथाम को लेकर युद्ध स्तर पर तैयारी कर रखी है। आगरा के सभी 15 ब्लॉक और शहरी क्षेत्र में स्थित पीएचसी और सीएचसी पूरे तरह से अलर्ट मोड पर है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में नगर निगम, नगर पंचायत और ग्राम पंचायत के द्वारा साफ- सफाई का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। साथ ही एंटी लार्वा का छिड़काव भी लगातार कराया जा रहा है। वहीं किसी भी मरीज को खून की कमी न हो इसके लिए ब्लड बैंक में पर्याप्त मात्रा में ब्लड उपलब्ध है। वहीं आगरा के कई ऐसे गांव हैं जहां के लोग वायरल फीवर की दहशत से पलायन हो रहें है। अपने परिजनों की सुरक्षा के लिए अन्य स्थानों पर जा रहें है।
PunjabKesari
गौरतलब है कि प्रदेश में अब तक डेंगू के 409 मामलों की पुष्टि हो चुकी है। सबसे ज्यादा 107 मामले मथुरा से आए है। वाराणसी से 69 तो फिरोजाबाद से 49 डेंगू के मामले सामने आ चुके हैं। वहीं 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है।

 

 

Related Story

West Indies

137/10

26.0

India

225/3

36.0

India win by 119 runs (DLS Method)

RR 5.27
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!