मुलायम के साढू प्रमोद गुप्ता भाजपा में शामिल, बोले- अपनी मूल विचारधारा से भटक गई सपा

Edited By Ramkesh, Updated: 19 Jan, 2022 06:57 PM

says sp has strayed from its original ideology

समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक मुलायम सिंह यादव के साढ़ू और औरैया जिले की बिधूना क्षेत्र से विधायक रहे प्रमोद कुमार गुप्ता एलएस ने कहा कि सपा अपनी मूल विचारधारा से भटक गयी है। पार्टी में अब नेता जी (मुलायम सिंह यादव) और शिवपाल सिंह यादव का कोई सम्मान...

औरैया: समाजवादी पार्टी (सपा) संरक्षक मुलायम सिंह यादव के साढ़ू और औरैया जिले की बिधूना क्षेत्र से विधायक रहे प्रमोद कुमार गुप्ता एलएस ने कहा कि सपा अपनी मूल विचारधारा से भटक गयी है। पार्टी में अब नेता जी (मुलायम सिंह यादव) और शिवपाल सिंह यादव का कोई सम्मान नहीं बचा है, ऐसी स्थिति में वह अब भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं। मुलायम की दूसरी पत्नी साधना यादव के बहनोई पूर्व विधायक प्रमोद कुमार गुप्ता एलएस फिलहाल प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रसपा) के पदाधिकारी हैं। बुधवार को मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव ने दिल्ली में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है। प्रमोद गुप्ता एलएस ने लखनऊ में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली है।  उन्होंने आरोप लगाया कि सपा में मुलायम और अखिलेश का कोई सम्मान नहीं है जिससे आहत होकर उन्होने भाजपा में शामिल होने का फैसला किया है। उन्होने कहा कि पाटी अब अपनी मूल विचारधारा से भटक गयी है और उसमें जुआं सट्टा खिलाने वालों व जमीनों पर कब्जा करने वालों को शामिल किया जा रहा है। पूर्व विधायक ने आरोप लगाया कि सपा में मुलायम सिंह यादव व शिवपाल सिंह यादव को प्रताड़ति किया जा रहा है।

मुलायम सिंह के अत्यंत करीबी प्रमोद कुमार गुप्ता
मुलायम सिंह यादव को विक्रमादित्य मार्ग वाले आवास पर बंधक बना लिया गया है और उन्हें किसी से मिलने भी नहीं दिया जा रहा है। नेता जी के जन्मदिन वाले दिन उन्हें कुछ भी बोलने नहीं दिया गया और माइक छीन लिया गया।  उन्होंने आरोप लगाया कि आज पार्टी में गैर समाजवादियों को तरजीह दी जा रही है और पुराने समाजवादियों की घोर उपेक्षा की जा रही है। ऐसे लोगों को सपा में शामिल किया जा रहा है जो अभी तक सपा और नेता जी को गालियां देते थे। उन्होंने कहा कि जिस दल में नेता जी का ही अपमान होने लगा हो उस दल में रहने का अब कोई मतलब नहीं रह गया है, इसलिए अब वह भाजपा में शामिल हो रहे हैं।   क्षेत्र में प्रमोद गुप्ता की पहचान कट्टर सपाई और मुलायम सिंह के अत्यंत करीबी भी मानी जाती रही है मगर 2007 में हुए नगर पंचायत बिधूना के चुनाव में पाटर्ी ने उन्हें टिकट नहीं दिया जिससे नाराज होकर उन्होने निर्दलीय के तौर पर चुनाव लड़ा और जीत हासिल कर पार्टी को अपने जमीनी जनाधार का आइना भी दिखा दिया। बाद में सपा ने 2012 में हुए विधानसभा के चुनाव में बिधूना क्षेत्र से उन्हें टिकट देकर मैदान में उतारा। इस चुनाव में उन्होंने जीत हासिल की। 

अखिलेश यादव से उनके संबंध नहीं थे अच्छे
पार्टी के एक नेता ने बताया कि बिधूना क्षेत्र से सपा विधायक होने के बाद भी रिश्ते में भतीजे और प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से कभी भी उनके संबंध अच्छे नहीं रहे। अखिलेश से जुड़े क्षेत्र के कार्यकर्ता कभी उन्हें सम्मान देना तो दूर विधायक तक मानने को तैयार नहीं रहे। उल्टे पार्टी मीटिंगों में कई बार उन्हें अपमानित करने का भी प्रयास किया यही कारण था कि एलएस का जुड़ाव शिवपाल सिंह यादव से ज्यादा रहा।   उन्होंने बताया कि पार्टी की उपेक्षा से त्रस्त होकर वह शिवपाल की नयी पार्टी प्रसपा में चले गए थे और अभी तक उन्हीं के साथ थे। पिछले दिनों अखिलेश और शिवपाल के मेल पर एलएस ने भी बिधूना से टिकट की उम्मीद पाल रखी थी जिस पर तुषारापात होते देख उन्होने भाजपा में जाने का फैसला लिया है।  सूत्रों के अनुसार प्रमोद गुप्ता एलएस जिनकी पहचान औरैया, इटावा, कन्नौज, कानपुर देहात आदि आसपास के जनपदों में एक बड़े वैश्य नेता के रूप में है। उनके भाजपा में शामिल होने से जहां सपा को नुकसान होगा वहीं भाजपा को स्पष्ट तौर लाभ मिलेगा। उनके साथ गैर वैश्य समाज के कार्यकर्ताओं की भी एक बड़ी टीम है, जिनका लाभ भी भाजपा को मिलेगा। 

Related Story

Ireland

India

Match will be start at 28 Jun,2022 10:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!