रजिस्ट्रेशन उपलब्धता जांचने के बाद ही चारधाम यात्रा शुरू करें तीर्थयात्री: पर्यटन सचिव

Edited By Nitika, Updated: 16 May, 2022 04:41 PM

statement of tourism secretary

उत्तराखंड के पर्यटन मंत्रालय ने देश और विदेश से चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों को यात्रा आरंभ करने से पूर्व, अनिवार्य रूप से रजिस्ट्रेशन करने की सलाह दी है।

 

देहरादूनः उत्तराखंड के पर्यटन मंत्रालय ने देश और विदेश से चारधाम यात्रा पर आने वाले तीर्थयात्रियों को यात्रा आरंभ करने से पूर्व, अनिवार्य रूप से रजिस्ट्रेशन करने की सलाह दी है।

राज्य के पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि चारधाम आने वाले श्रद्धालुओं की यात्रा सुखद एवं सुरक्षित हो सके, इसके लिए विभिन्न धामों की वहन क्षमता के अनुरूप, रजिस्ट्रेशन की सीमा तय की गई है। उन्होंने कहा कि इसलिए तीर्थयात्री रजिस्ट्रेशन की उपलब्धता की जांच करने के बाद ही यात्रा आरंभ करें। उन्होंने इसके साथ ही सभी यात्रियों को चारधाम यात्रा हेतु प्रस्थान के पूर्व हेल्थ एडवाइजरी का अध्ययन एवं अनुपालन करने की हिदायत दी है।

जावलकर ने बताया कि पर्यटन विभाग ने प्रदेश में तीर्थयात्रियों के रजिस्ट्रेशन की एक निश्चित सीमा निर्धारित की है। बिना रजिस्ट्रेशन करवाए उत्तराखंड पहुंचने वाले यात्रियों को रजिस्ट्रेशन उपलब्ध ना होने की दशा में ऋषिकेश से आगे जाने की इजाजत नहीं होगी। उन्होंने यह भी कहा कि तीर्थयात्री रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद नियत तारीख पर ही यात्रा आरंभ करने के लिए उत्तराखंड पहुंचे। साथ ही रहने के लिए होटल आदि की बुकिंग भी रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद ही करें। सचिव पर्यटन जावलकर ने कहा कि जिन तिथियों में निर्धारित सीमा तक रजिस्ट्रेशन हो चुका है। उनके लिए कोशिश कर रहे तीर्थयात्रियों को अगली उपलब्ध तिथियों पर रजिस्ट्रेशन करवाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पंजीकरण करते समय श्रद्धालु उपलब्धता की जांच करने के बाद ही अपना टूर प्लान करें। उन्होंने बताया कि यात्रा के लिए पंजीकरण करवाया जा सकता है।

जावलकर ने तीर्थयात्रियों से यह भी अपील की है कि वे चारधाम यात्रा पर आने से पूर्व अपने स्वास्थ्य की पूर्ण जांच अवश्य करायें, ताकि उन्हें ऊंचे हिमालय क्षेत्र की विशेष भौगोलिक परिस्थितियों की वजह से किसी तरह की परेशानी न उठानी पड़े। उन्होंने बताया कि चारधाम यात्रा में समस्त तीर्थ स्थल उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित हैं। इनकी ऊंचाई समुद्र तल से 2700 मीटर से भी अधिक है। इन स्थानों पर तीर्थयात्री अत्यधिक ठंड, कम आद्रता, अत्यधिक अल्ट्रा वॉयलेट रेडिएशन, कम हवा का दबाव और कम ऑक्सीजन की मात्रा से प्रभावित हो सकते हैं।

बता दें कि तीर्थयात्रियों की सुगम एवं सुरक्षित यात्रा हेतु स्वास्थ्य विभाग की ओर से स्वास्थ्य संबंधी एडवाइजरी जारी की गई है। यह उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) के फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, यूट्यूब, लिंक्डइन जैसे सोशल मीडिया अकाउंट सहित विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर भी उपलब्ध है। विभाग ने यात्रियों को यात्रा शुरु करने से पहले हेल्थ एडवाइजरी पढ़ने की सलाह दी है।
 

Related Story

Ireland

India

Match will be start at 28 Jun,2022 10:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!