रुद्रपुर कांड का हुआ खुलासा, UP के अपराधियों ने घटना को दिया अंजाम, आरोपी गिरफ्तार

Edited By Diksha kanojia, Updated: 15 Jan, 2022 04:44 PM

rudrapur incident exposed criminals of up executed the incident

घटना को उत्तर प्रदेश रामपुर के शातिर अपराधियों के गिरोह ने अंजाम दिया हैं। गिरोह के मुखिया दो हिस्ट्रीशीटर हैं। तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि तीन अन्य फरार हैं।

नैनीताल/रुद्रपुरः उत्तराखंड के उधमसिंह नगर के रुद्रपुर में आदर्श आचार संहिता के ऐलान के ठीक बाद नौ जनवरी की रात को गौ वंशीय पशुओं को काटने और खुली जगह में फेंकने की घटना का पुलिस ने खुलासा कर दिया है।

घटना को उत्तर प्रदेश रामपुर के शातिर अपराधियों के गिरोह ने अंजाम दिया हैं। गिरोह के मुखिया दो हिस्ट्रीशीटर हैं। तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि तीन अन्य फरार हैं। उधमसिंह नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) दलीप सिंह कुंवर ने शुक्रवार को इस मामले का खुलासा करते हुए बताया कि नौ जनवरी की रात को रूद्रपुर के ट्रांजिट नगर थाना के तहत हुई घटना को उप्र के रामपुर के शातिर अपराधियों के एक गैंग ने अंजाम दिया। गैंग के मास्टर माइंड फरार हैं।

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों में अयूब उर्फ हकला पुत्र मोहम्मद अहमद निवासी मोहल्ला अगलका, थाना स्वार, रामपुर, उप्र, हाल निवासी जाफरपुर, मजार वाली मस्जिद के पास, वार्ड नंबर-5, गदरपुर, उधमसिंह नगर, शौलत अली पुत्र नक्शे अली निवासी खेमपुर, थाना अजीमनगर, रामपुर, उप्र व अफसर अली पुत्र अली हुसैन, खिदरपुर, थाना अजीमनगर, रामपुर, उप्र शामिल हैं। उन्होंने कहा कि घटना का खुलासा करने वाली टीम को सीसीटीवी कैमरे के माध्यम से एक संदिग्ध होंडा सिटी कार यूपी 25 एक्स 0240 व चार लोगों के बारे में जानकारी मिली।

पुलिस जब कार की गहरायी में गयी तो पुलिस को पता चला कि कुछ लोग गदरपुर में किराये में रहते हैं। पुलिस ने सबसे गदरपुर से अयूब उफर् हकला को गिरफ्तार किया। हकला ने पुलिस को बताया कि उसने अन्य साथियों के साथ इस घटना को अंजाम दिया। उन्होंने मौके पर दो गौ वंशीय पशुओं का वध किया लेकिन पुलिस के वाहन को देख कर वह घबरा गये और एक को मौके पर छोड़ कर फरार हो गये। इसके बाद पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर शौलत अली व अफसर अली को भी होंडा सिटी कार समेत गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि घटना के मुख्य मास्टर मांइंड फरार हैं।

इनमें दानिश पुत्र अफसर अली, निवासी अजीमनगर, रामपुर, उप्र, उस्मान पुत्र नक्शे अली निवासी खेमपुर, अजीमनगर, रामपुर व नईम पुत्र मोहम्मद अहमद निवासी अगलका, थाना स्वार, रामपुर, उप्र शामिल हैं। उन्होंने बताया कि दानिश गैंग का सरगना है। दानिश व उस्मान रामपुर के हिस्ट्रीशीटर भी हैं। घटना में शामिल सभी आरोपी शातिर किस्म के हैं और उप्र व उत्तराखंड में इनके खिलाफ मामले दर्ज हैं। मुख्य सरगना दानिश के खिलाफ गदरपुर, काशीपुर, स्वार, अजीमनगर, टांडा व रामपुर सिविल नगर थाना में 19 मामले जबकि जबकि उस्मान के खिलाफ आईटीआई थाना, स्वार, अजीमनगर व टांडा में 10 अभियोग पंजीकृत हैं। इसी प्रकार नईम, अयूब एवं शौकत अली के खिलाफ चार-चार व अफसर अली के खिलाफ दो मामले दर्ज हैं।

आरोपियों ने बताया कि मांस को तीनों ने सामूहिक रूप से बेच दिया और पैसे को आपस में बांट लिया। पुलिस ने घटना का खुलासा तो कर दिया लेकिन घटना के पीछे के रहस्य को उजागर नहीं किया है। उन्होंने बताया कि पुलिस विभिन्न कोणों से मामले की जांच कर रही है। फरार आरोपियों की गिरफ्तार के बाद पूरे प्रकरण पर से पर्दा उठ सकेगा। गौरतलब है कि ट्रांजिट नगर थाना के गगन ज्योति बारात घर के सामने खाली पड़े भूखंड में गौवंशीय पशुओं के अवशेष पाये गये थे। गत 10 जनवरी को इस घटना के प्रकाश में आने के बाद शहर का पारा एकदम चढ़ गया। भीड़ सड़कों पर आ गयी।

लोगों ने इसे विधानसभा चुनावों से जोड़ कर एक साजिश करार दिया और कहा कि यह शहर का माहौल खराब करने की चाल है। इसके बाद पुलिस ने माहौल की गंभीरता को देखते हुए पूरे शहर को छावनी में तब्दील कर दिया। साथ ही लोगों को भरोसा देते हुए मामले की तह तक जाने के लिये एसओजी व पुलिस की कई टीमें झोंक दीं। खुद कुमाऊं आयुक्त दीपक रावत, पुलिस उप महानिरीक्षक डा. नीलेश आनंद भरणे व जिलाधिकारी युगल किशोर पंत व एसएसपी भी मौके पर गये और घटना का मुआयना किया। 

Related Story

Trending Topics

Ireland

118/3

10.4

India

225/7

20.0

Ireland need 108 runs to win from 9.2 overs

RR 11.35
img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!