Subscribe Now!

दूध-घी के कारोबारी के ठिकानों पर आयकर का छापा, करोड़ों की कर चोरी का चला पता

  • दूध-घी के कारोबारी के ठिकानों पर आयकर का छापा, करोड़ों की कर चोरी का चला पता
You Are Here
दूध-घी के कारोबारी के ठिकानों पर आयकर का छापा, करोड़ों की कर चोरी का चला पतादूध-घी के कारोबारी के ठिकानों पर आयकर का छापा, करोड़ों की कर चोरी का चला पतादूध-घी के कारोबारी के ठिकानों पर आयकर का छापा, करोड़ों की कर चोरी का चला पता

सहारनपुरः उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के दूध और देशी घी के एक बड़े कारोबारी मधुसूदन समूह पर आयकर विभाग की छापेमारी के दौरान करोड़ों की कर चोरी का पता चला है। आयकर विभाग के प्रमुख निदेशक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि दो दिन चल चली छापेमारी के बाद बुधवार देर रात जांच का काम पूरा हो गया। 

उन्होंने बताया कि आयकर विभाग की 8 टीमों ने 2 दिन मधुसूदन ग्रुप के निदेशक तीनों भाइयों एससी अग्रवाल, एमसी अग्रवाल, पीसी अग्रवाल की दूध और घी के कारखानों, उनके आवासों और उनके कार्यालयों पर एकसाथ छापेमारी की। सहारनपुर के नानोता और महंगी गांव में स्थित इकाइयों, सहारनपुर दाल मंडी स्थित कार्यालय और दिल्ली रोड स्थित आवास पर छापेमारी की कार्रवाई की गई। आयकर विभाग की टीमों ने इस ग्रुप के दिल्ली, बुलंदशहर और उड़ीसा स्थित प्रतिष्ठानों पर भी छापेमारी की।

आयकर अधिकारियों का कहना था कि शुरूआती जांच में पता चला था कि नोटबंदी के दौरान इस समूह ने कर्मचारियों और अधिकारियों से करोड़ों रूपए की धनराशि जमा कराई गई थी। आयकर अधिकारी सहारनपुर में अग्रवाल बंधुओं के आलीशान आवास को देखकर भौचक्के रह गए। इस आवास को व्हाइट हाउस की तरह ही बनाया गया है।   यह समूह दूध और घी के साथ-साथ तंबाकू का भी कारोबार करता है। सहारनपुर में इस ग्रुप की तंबाकू की फैक्टरी है। उड़ीसा में स्टील प्लांट है। उत्तराखंड में भी इस समूह के कार्यालय है।

मधुसूदन का कारपोरेट दफ्तर नोएडा, ग्रेटर नोएडा, एक्सप्रेस-वे पर स्थित है। आयकर विभाग की टीम ने इस समूह के ग्रेटर कैलाश स्थित 2 कार्यालयों पर भी जांच पड़ताल की। अन्वेषण के प्रमुख निदेशक अमरेंद्र कुमार ने बताया कि छापेमारी से पहले आयकर विभाग की टीमों ने इस समूह की अपने तरीके से गोपनीय जांच की थी। बड़े स्तर पर आयकर की चोरी का अंदेशा होने पर पूरे समूह पर एक साथ छापेमारी की गई। उन्होंने बताया कि आयकर विभाग की टीमों ने इस समूह की सभी फर्मों और ठिकानों से पूरे कागजात कब्जे में ले लिए हैं। जिनकी बारीकी से जांच पड़ताल की जा रही है। आयकर विभाग की टीमों में शामिल अधिकारियों का कहना था कि इस समूह के मालिकों ने करोड़ों रूपए की आयकर की चोरी की बात कबूली है। 
 



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन