बिजली चोरी रोकने के लिए ‘गुजरात मॉडल’ अपनाएगा यूपी: श्रीकांत शर्मा

  • बिजली चोरी रोकने के लिए ‘गुजरात मॉडल’ अपनाएगा यूपी: श्रीकांत शर्मा
You Are Here
बिजली चोरी रोकने के लिए ‘गुजरात मॉडल’ अपनाएगा यूपी: श्रीकांत शर्माबिजली चोरी रोकने के लिए ‘गुजरात मॉडल’ अपनाएगा यूपी: श्रीकांत शर्माबिजली चोरी रोकने के लिए ‘गुजरात मॉडल’ अपनाएगा यूपी: श्रीकांत शर्मा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के उर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने आज कहा कि बिजली चोरी रोकने के लिए ‘कतई बर्दाश्त नहीं’ की नीति का पालन होगा और ‘गुजरात मॉडल’ अपनाया जाएगा। 

शर्मा ने कहा, ‘‘बिजली चोरी रोकने के लिए सख्ती बरतनी होगी। राज्य सरकार गुजरात मॉडल अपनाएगी। इसमें समर्पित सतर्कता दस्ता और विशेष थाने बनाने की व्यवस्था है।’’ शर्मा ने कहा कि राज्य में चौबीस घंटे बिजली सुनिश्चित करने के लिए चोरी रोकना आवश्यक है।  गुजरात विकास उर्जा निगम लिमिटेड की वेबसाइट पर बिजली और संपत्ति चोरी के मामलों से निपटने के लिए पांच समर्पित थाने बनाये गये हैं, जो वड़ोदरा, सूरत, साबरमती, राजकोट और भावनगर में हैं। 

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्रिपरिषद की दूसरी बैठक में कल उर्जा विभाग को निर्देश दिया था कि गांवों में खराब ट्रांसफार्मर तेजी से बदले जाएं ताकि खेती का काम प्रभावित ना हो। शर्मा ने बताया कि महात्वाकांक्षी ‘पॉवर फॉर आल’ समझौते पर 14 अप्रैल को मुख्यमंत्री और केन्द्रीय उर्जा मंत्री पीयूष गोयल दस्तखत करेंगे। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री का निर्देश था कि नवरात्रि के दौरान सभी शक्तिपीठों में 24 घंटे बिजली आपूर्ति हो, जिसे हमने सुनिश्चित किया। 

शर्मा ने कहा कि परीक्षाएं चल रही हैं और छात्रों को रात में बिजली मिलनी चाहिए ताकि उनकी पढ़ाई प्रभावित ना हो। हमने इस आेर भी गंभीरता से ध्यान दिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सपना है कि हर घर, हर गरीब और हर गांव को 2018 तक बिजली मुहैया हो। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!