UP विधानसभा बजट सत्रः जोरदार हंगामे के बाद वित्तमंत्री ने पेश किया 3.84 लाख करोड़ का बजट

  • UP विधानसभा बजट सत्रः जोरदार हंगामे के बाद वित्तमंत्री ने पेश किया 3.84 लाख करोड़ का बजट
You Are Here
UP विधानसभा बजट सत्रः जोरदार हंगामे के बाद वित्तमंत्री ने पेश किया 3.84 लाख करोड़ का बजटUP विधानसभा बजट सत्रः जोरदार हंगामे के बाद वित्तमंत्री ने पेश किया 3.84 लाख करोड़ का बजटUP विधानसभा बजट सत्रः जोरदार हंगामे के बाद वित्तमंत्री ने पेश किया 3.84 लाख करोड़ का बजट

लखनऊः  उत्तर प्रदेश की 17 वीं विधानसभा का पहला बजट मंगलवार को जोरदार हंगामे के बाद पेश हुआ। वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी सरकार का पहला 3.84 लाख करोड़ का बजट पेश किया। बता दें कि सत्र की कार्यवाही शुरू होते ही विपक्ष ने योगी सरकार पर हमला बोल दिया था। विपक्ष के नेताओं ने यूपी की कानून-व्यवस्था को लेकर सदन में जमकर हंगामा किया था। इसके बाद सदन की कार्यवाही को 12.15 तक के लिए स्थग‍ित करना पड़ा।

राज्य में कांवड यात्रा को लेकर अलर्ट जारीः योगी
वहीं सदन की कार्यवाही शुरू होते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अमरनाथ में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि  '' मैं अमरनाथ यात्रा पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं। यात्रियों पर कायराना हमला हुआ है। आतंक पर लड़ाई किसी एक राज्य की नहीं है। राज्य में सुरक्षा को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। यूपी में कांवड़ यात्रा को लेकर भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। कांवड़ यात्रियों से मैं सहयोग की अपील करता हूं। वे अपने साथ आईडी कार्ड जरूर रखें, ताकि उन्हें क‍िसी तरह की कोई द‍िक्कत न हो।'' 

3.84 लाख करोड़ का बजट पेश
बता दें कि सत्र की कार्यवाही शुरू होते ही समाजवादी, बसपा और कांग्रेस विपक्षी दल सभी एक वेल में आ गए। सपा के विधायक योगी सरकार पर जवाबी हमला करते हुए धरने पर बैछ गए। जिसके चलते 12.15 तक कार्यवाही स्थगित करनी पड़ी। सदन की कार्यवाही शुरु होते ही वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने योगी सरकार का पहला 3.84 लाख करोड़ का बजट पेश किया। अग्रवाल ने कहा कि प्रदेश में गरीबी को समाप्त करना हमारी प्राथमिकता है।
- विधानसभा में 3.84 लाख करोड़ का बजट पेश।
- बजट में शहर और गांव सभी वर्गों का ध्यान रखा जाएगा।
- सरकार जल्द ही लाएगी टेक्सटाइल नीति।
- 55781 करोड़ की नई योजनाएं बजट में शामिल।
- किसान उत्पादों पर कर की दर शून्य रखी जाएगी।
- छोटे वर्ग के व्यापारियों को पंजीकरण में भी छूट दी गई है।
- जीएसटी का उद्देश्य कर की समान व्यवस्था लागू करना।
- कौशल विकास को बढावा देना बजट में शामिस।
- किसान समृद्धि योजना के लिए 10 करोड़ का बजट।
- 24 जनवरी को उत्तर प्रदेश दिवस मनाने की योजना।
- स्वास्थय सेवाओं में सुधार लाना सरकार की प्राथमिकता।
- फसली ऋण मोचन योजना के 36000 करोड़ की व्यवस्था।
- सोलर पंप योजना के लए 125 करोड़ का बजट।
- चीनी उद्योग को बढा़वा देने के लिए 273 करोड़ का बजट।
- बड़े वर्ग के व्यापारियों का अॉनलाइन पंजीकरण।
- संकल्प पत्र के अनुसार हम सब वादों को पूरा करेंगें।
- 2017-18 में 12 हजार 278 करोड़ की बचत।
- गन्ना किसानों की उपज बाजार तक पहुंचाई जाएगी।
- संपर्क मार्गों के निर्माण के लिए 20 करोड़ का बजट।
- सेंटर अॉफ  एेक्सीलेंस के लिए 10 करोड़ का बजट।
- प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना के लिए 3 हजार करोड का बजट।
- बुंदेलखंड, की योजनाओं के लिए 200 करोड़ का बजट।
- पूर्वांचल की योजनाओं के लिए 300 करोड़ का बजट।
- गन्ना किसानों के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी।
- स्माला चीनी मिल के लिए 84 करोड़ का बजट।
- मेट्रो रेल परियोजनाओं के लिए 288 करोड़ का बजट।
- प्रत्येक माह की 25 तारीख को मातृत्व दिवस मनाया जाएगा।
- अयोध्या में रामलीला का पुन नियोजन शुरू किया।
- सिंचाई के लिए स्पिंकल 10 करोड़ 41 लाख का बजट।
- सिंधु दर्शन के लिए 10 बजार प्रति व्यक्ति की योजना।
- स्वच्छ भारत मिशन शहरों के लिए 1000 करोड़ का बजट।
- 33 हजार 2 सौ पुलिस कर्मियों की भर्तीयां की जाएंगी।
- वाराणसी संस्कृति केंद्र के लिए 200 करोड़।



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क  रजिस्टर  करें !