शिवपाल ने मारा था धक्का, अब CM ने बनाया दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री

  • शिवपाल ने मारा था धक्का, अब CM ने बनाया दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री
You Are Here
शिवपाल ने मारा था धक्का, अब CM ने बनाया दर्जा प्राप्त राज्यमंत्रीशिवपाल ने मारा था धक्का, अब CM ने बनाया दर्जा प्राप्त राज्यमंत्रीशिवपाल ने मारा था धक्का, अब CM ने बनाया दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री

लखनऊ(अनिल सैनी): लगता है समाजवादी पार्टी में चाचा-भतीजे में पड़ी रार अभी खत्म नहीं हुई है। भरे मंच पर जिस नेता को शिवपाल ने धक्का देकर बाहर किया था उसे ही अखिलेश ने सिंचाई विभाग का प्रमुख सलाहकार बना दिया है। कहा जा रहा है कि ये पद उन्हें वफादारी के बदले दिया जा रहा है। बता दें कि ये विभाग पहले शिवपाल सिंह के ही पास था। जिसे विवाद के समय मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उनसे छीन लिया था। जावेद आब्दी को अब अखिलेश ने सिंचाई विभाग का प्रमुख सलाहकार बनाया है। 

मुलायम ने कराया था दोनों नेताओं में सुलह
जहां चाचा ने यूपी प्रदेश अध्यक्ष का पद संभालते हुये अखिलेश के चहेतों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाना शुरू किया तो वहीं अखिलेश ने शिवपाल को मंत्री पद से हटाकर अपनी ताकत का अहसास कराया था। जिसके चलते दोनों ओर से समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की थी। इसके बाद सपा सुप्रीमो ने चुनावों को करीब आते देख दोनों के बीच समझौता कराया। मुख्यमंत्री द्वारा लिए गए इस फैसले के बाद एक बार फिर चाचा-भतीजे में मतभेद बढ़ सकते हैं। 

ये था मामला
दरअसल लखनऊ में 5 नवंबर को सपा के 25 साल पूरे होने पर रजत जंयती समारोह का आयोजन किया गया। जिसमें दूसरे दलों के अध्यक्षों को भी न्यौता दिया गया था। वहीं अखिलेश के करीबी रहे जावेद आब्दी ने मंच पर माईक पकड़ते ही जैसे ही सीएम का गुणगान शुरू किया तो सपा प्रदेश अध्यक्ष ने आब्दी को धक्का देकर मंच से हटा दिया था। शायद शिवपाल को भतीजे की तारीफ पंसद नहीं आई।

गुटबाजी पर सपा प्रवक्ता ने दी सफाई 
सपा प्रवक्ता दीपक मिश्र ने पंजाब केसरी से बातचीत में कहा कि ‘पार्टी के भीतर कोई गुटबाजी नहीं है।’ वहीं जावेद आब्दी को धक्का मारने के सवाल पर उन्होंने कहा कि- ‘जावेद आब्दी को कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह ने मंच से धक्का नहीं दिया था। कार्यक्रम में कई वरिष्ठ नेताओं का संबोधन होना था, लिहाजा शिवपाल ने उन्हें इसलिए हटाया ताकि कार्यक्रम में अन्य नेताओं को भी वक्तव्य देने का समय मिले।’ 

UP Political News की अन्य खबरें पढ़ने के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!