सुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश शिक्षामित्रों ने मनाया जश्न

You Are Here
सुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश शिक्षामित्रों ने मनाया जश्नसुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश शिक्षामित्रों ने मनाया जश्नसुप्रीम कोर्ट के फैसले से खुश शिक्षामित्रों ने मनाया जश्न

इलाहाबाद(सैयद आकिब रजा): देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिलने से खुश इलाहाबाद के शिक्षामित्रों ने आज जमकर जश्न मनाया। शिक्षामित्रों ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कोर्ट के साथ ही केंद्र की मोदी और यूपी की योगी सरकार का शुक्रिया अदा किया। फैसले से खुश शिक्षामित्रों ने कहा है कि इससे देश की न्यायिक व्यवस्था पर उनका भरोसा और बढ़ गया है। 

शिक्षामित्रों ने इलाहाबाद के सुभाष चौक पर इकट्ठे होकर जश्न मनाया और पीएम मोदी व यूपी के सीएम योगी के पक्ष में नारेबाजी की। शिक्षामित्रों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से उनकी नौकरी पर मंडरा रहा खतरा ख़त्म हो गया है। इससे सिर्फ वह ही नहीं बल्कि उनका पूरा परिवार भी खुश है। 

गौरतलब है कि यूपी के तकरीबन पौने दो लाख शिक्षा मित्रों को आज देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा असिस्टेंट टीचर पर हुए समायोजन को रद्द किये जाने के फैसले को पलटते हुए शिक्षा मित्रों को बड़ी राहत दी है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि लगातार पढ़ाते रहने की वजह से इन्हे रद्द नहीं किया जा सकता। 

कोर्ट ने यह जरूर कहा है कि समायोजित हुए पौने दो लाख शिक्षा मित्रों को दो साल में टीईटी पास करना होगा। शिक्षा मित्र इस फैसले से इसलिए भी खुश हैं क्योंकि पौने दो लाख शिक्षामित्रों में से एक लाख अड़तीस हजार पहले ही टीईटी पास कर चुके हैं। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सितम्बर २०१५ में पौने दो लाख शिक्षामित्रों को असिस्टेंट टीचर बनाए जाने के फैसले को रद्द कर दिया था। 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!