Subscribe Now!

यूपी: विधानसभा परिसर में SP नेताओं का प्रदर्शन, पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप

You Are Here
यूपी: विधानसभा परिसर में SP नेताओं का प्रदर्शन, पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ का आरोपयूपी: विधानसभा परिसर में SP नेताओं का प्रदर्शन, पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ का आरोपयूपी: विधानसभा परिसर में SP नेताओं का प्रदर्शन, पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधानसभा परिसर में मंगलवार को सपा नेताओं ने पुलिस पर फर्जी मुठभेड़ का आरोप लगाकर प्रदर्शन किया। सपा सदस्यों ने किसानों की आय दोगुनी करने और गोवंशीय पशुओं की नस्ल सुधार के मुद्दे पर सदन से वाकआउट किया। प्रश्नकाल के दौरान सपा सदस्य वासुदेव यादव ने किसानों की फसल को दोगुनी करने के लिए सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों के बारे में सवाल किया। इसके जवाब में कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने लिखित उत्तर पढ़ना शुरू किया। जवाब को काफी विस्तृत बताते हुए सपा सदस्यों ने सभापति रमेश यादव से इसे पढ़ा हुआ मानने का आग्रह किया। इस बात को लेकर मंत्री शाही और सपा सदस्यों के बीच नोंकझोंक शुरू हो गई।

मंत्री ने कहा कि सरकार किसानों के लिए दौड़ रही है और पसीना विपक्ष को आ रहा है।इसी बीच, वासुदेव यादव ने पूरक प्रश्न करते हुए कहा कि सरकार ने अपने लिखित जवाब में कहा है कि फसल उत्पादन बढ़ाया जाएगा लेकिन किसानों की आय दोगुनी करने के बारे में कुछ नहीं कहा गया है। इसके अलावा सरकार का यह भी कहना है कि गोवंशीय पशुओं की नस्ल सुधार करके केवल बछिया पैदा कराने की परियोजना संचालित की जा रही है। मंत्री बाराबंकी के किसी एक ब्लॉक के बारे में ही ब्यौरा दे दें, जहां गाय ऐसी प्रक्रिया से गुजारी हों।

इस पर मंत्री शाही ने कहा कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार गोवंशीय पशुओं की नस्ल ठीक करेगी, जिसे इन्होंने (सपा सदस्यों की तरफ इशारा करते हुए) बिगाड़ा है। सरकार इसके लिए एक विदेशी कम्पनी से भी मदद ले रही है। मंत्री के इस आरोप को सपा सदस्यों ने घोर आपत्तिजनक बताते हुए इस पर स्पष्टीकरण की मांग की। सदन में सपा और विपक्ष के नेता अहमद हसन ने कहा कि जिस अमेरिकी कंपनी को जानवरों की नस्ल ठीक करने के नाम पर बुलाया गया है उसका अमेरिका में ही रिकॉर्ड अच्छा नहीं है।

सपा सदस्य नरेश उत्तम पटेल ने कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा ने चुनाव में किसानों की आमदनी दोगुनी करने का वादा किया था। केन्द्र में भाजपा सरकार को बने 4 साल हो गए, मगर किसानों को लागत मूल्य ही नहीं मिल रहा है और सरकार किसानों की आमदनी दोगुनी करने के फार्मूले बता रही है। इसी बीच, सपा सदस्य मधु गुप्ता ने गोवंशीय पशुओं की नस्ल बिगाड़ने के कृषि मंत्री द्वारा लगाए गए आरोप पर स्पष्टीकरण चाहा तो शाही ने कहा कि पिछली सरकार की नीतियों की वजह से ही इतने बछड़े पैदा हुए, इसी वजह ये आज उनकी बहुत बड़ी तादाद हो चुकी है। सरकार चार साल में खासकर गोवंशीय पशुओं की नस्ल का सुधार करेगी।



UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन