Subscribe Now!

NRHM घोटाला कांड से जुड़े एक सीएमओ की संदिग्ध मौत, जताई जा रही हत्या की अशंका

You Are Here
NRHM घोटाला कांड से जुड़े एक सीएमओ की संदिग्ध मौत, जताई जा रही हत्या की अशंकाNRHM घोटाला कांड से जुड़े एक सीएमओ की संदिग्ध मौत, जताई जा रही हत्या की अशंकाNRHM घोटाला कांड से जुड़े एक सीएमओ की संदिग्ध मौत, जताई जा रही हत्या की अशंका

गोरखपुरः उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में एक रिटायर्ड सीएमओ पवन श्रीवास्तव की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत की ख़बर है। सिर में गोली लगने से रिटायर्ड सीएमओ की मौत की आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने मौके से मृतक सीएमओ की लाइसेंसी रिवाल्वर बरामद की है। फिलहाल मौत की वजह का पता नहीं चल पाया है।
PunjabKesari
डॉ. पवन श्रीवास्तव गोरखनाथ थाना क्षेत्र के हुमायूंपुर सुभाष नगर के मूल निवासी थे। वह गोरखनाथ थाना क्षेत्र के राजेन्द्र नगर महावीरपुरम में मकान बनावा कर बच्चों के साथ रहते थे। पुत्रवधू एकता ने बताया कि उनके ससुर (डॉ. श्रीवास्तव की ) 2010 में सेवानिवृत्त हुए थे। रिटायरमेंट से करीब डेढ़ महीने पहले उनकी पत्नी का देहांत हो गया था। उसके बाद से ही वह डिप्रेशन में थे और घर से कम ही बाहर निकलते थे।
PunjabKesari
पुत्रवधू ने बताया कि एनआरएचएम मामले में वह लगातार सीबआई अदालत में पेश होने के लिए हर साल दिल्ली जाते थे। बताया जा रहा है कि सीबीआई की पूछताछ से भी वह परेशान थे और इस कारण भी डॉ. श्रीवास्तव तनाव में चल रहे थे। 15 जनवरी को सीबीआई के समक्ष पेशी को लेकर भी वह बेहद परेशान थे। बता दें कि श्रीवास्तव कुशीनगर और सीतापुर के मुख्य चिकित्साधिकारी भी रह चुके हैं। वह उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य सेवा में निदेशक पद से सेवानिवृत्त हुए थे।
PunjabKesari
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सत्यार्थ अनिरुद्ध पंकज ने बताया कि प्रथमदृष्टया लगता है कि श्रीवास्तव ने खुदकुशी की है। हालांकि इस मामले में अभी जांच जारी है। बताया जा रहा है कि इसी महीने 15 जनवरी को सीबीआई ने एनआरएचएम मामले में पूछताछ के लिए उन्हें बुलाया था। 



UTTAR PRADESH NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन