प्रिंसिपल बनी जल्लाद, बर्तन न धोने पर तोड़ दिया छात्र का हाथ

You Are Here
प्रिंसिपल बनी जल्लाद, बर्तन न धोने पर तोड़ दिया छात्र का हाथप्रिंसिपल बनी जल्लाद, बर्तन न धोने पर तोड़ दिया छात्र का हाथप्रिंसिपल बनी जल्लाद, बर्तन न धोने पर तोड़ दिया छात्र का हाथ

कानपुरः यूपी में प्रिंसिपल द्वारा बच्चों को प्रताड़ित करने के मामले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे है। एेसी ही एक ताजी घटना कानपुर में भी देखने को मिली है, जहां एक प्राइमरी स्कूल की प्रिंसिपल ने एक बच्चे को ऐसे पीटा कि उसका हाथ ही टूट गया। जब परिजन स्कूल पहुंचे तो उन्हें धक्के मारकर स्कूल से बाहर निकाल दिया।
                 PunjabKesari
जानकारी के मुताबिक मामला नौबस्ता थाना क्षेत्र के उस्मानपुर गांव का है। जहां के रहने वाले अमर सिंह पैरालिसिस की बीमारी से जूझ रहे हैं। इसके बाद भी वो सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी करते हैं। वह पत्नी संगीता, बेटी कोमल, करिश्मा, बेटा संदीप और कुलदीप के साथ रहते हैं। इनका बेटा कुलदीप परिषदीय प्राथमिक विद्यालय में पढ़ता है।
                 PunjabKesari
बच्चे से धुलवाती थी बर्तन
पीड़ित की मां संगीता का आरोप है कि प्रिंसिपल सीमा शुक्ला ने बच्चे को धक्का मारा था, जिसकी वजह से उसका हाथ टूटा है। उन्होंने कहा कि प्रिंसिपल बच्चे से मिड डे मील बनाने में इस्तेमाल होने वाले बर्तन भी धुलवाती थी। जब वो बर्तन नहीं धोता था तो उसे धमकाया जाता था। उन्होंने कहा कि घर की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, इसलिए पैसे उधार लेकर बेटे को डॉक्टर को दिखाया और उसके हाथ पर प्लास्टर चढ़वाया। इसके साथ ही हमने थाने में तहरीर दी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद भी कई बार थाने में तहरीर दी गई।
                 PunjabKesari
क्या कहना है प्रिंसिपल का?
वहीं स्कूल की प्रिंसिपल सीमा शुक्ला का कहना है कि ये बच्चा बहुत ही शैतान है। हमने एक संस्था के माध्यम से स्कूल में झूले लगवाए हैं। ये बच्चा ऊपर स्लाइड करने वाला झूला झूल रहा था। इसी दौरान वो गिर पड़ा और उसका हाथ टूट गया। उन्होंने कहा कि इससे पहले भी हमने कई बार उसे समझाया था कि ये झूला मत झूलो, लेकिन उसने बात नहीं मानी। बच्चे के परिजनों का आरोप बेबुनियाद है।



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन