Subscribe Now!

अब लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर जेब करनी पड़ेगी और ढीली

  • अब लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर जेब करनी पड़ेगी और ढीली
You Are Here
अब लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर जेब करनी पड़ेगी और ढीलीअब लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर जेब करनी पड़ेगी और ढीलीअब लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे पर जेब करनी पड़ेगी और ढीली

लखनऊ: देश के सबसे लंबे छह लेन के आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर आज मध्यरात्रि से सफर महंगा हो जाएगा क्योंकि सभी वाहनों से टोल टैक्स वसूला जाएगा।

योगी आदित्यनाथ सरकार ने 302 किलोमीटर लंबे एक्सप्रेसवे से गुजरने वाले वाहनों के लिए टोल टैक्स की दरें तय कर दी हैं। इस एक्सप्रेसवे की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इस पर 3.3 किलोमीटर लंबी हवाई पट्टी है, जिसका उपयोग किसी आपात स्थिति में वायुसेना के विमान और लडाकू जेट रनवे के रूप में कर सकते हैं।

राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि हर वाहन का टोल टैक्स अलग अलग होगा और यह दोनों ही ओर यानी लखनऊ से आगरा और आगरा से लखनऊ जाने वाले वाहनों पर लागू होगा। प्रवक्ता ने बताया कि कार, जीप, वैन या हल्के मोटर वाहन के लिए टोल टैक्स की दर 570 रूपये होगी जबकि हल्के वाणिज्यिक वाहनों या मिनीबस के लिए यह 905 रूपये होगा। बस और ट्रक के लिए ये दर 1815 रूपये होगी। निर्माण कार्य में प्रयुक्त होने वाली भारी मशीनों, मल्टी एक्सेल वाहन (तीन से छह) के लिए 2785 रूपये जबकि बहुत बड़े आकार के वाहन (सात एवं इससे अधिक एक्सेल) पर यह 3575 रूपये होगा।

उन्होंने बताया कि दोनों ही ओर से टोल की दरें एक जैसी होंगी लेकिन ये दरें वाहन द्वारा तय की गयी दूरी के अनुपात में होगी। उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीडा) के एक अधिकारी ने लखनऊ-कानपुर-आगरा नेशनल हाईवे की तुलना में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर अधिक टोल लगाने के फैसले को उचित ठहराते हुए कहा कि नेशनल हाईवे से कुल दूरी 364 किलोमीटर है और टोल टैक्स 390 रूपये है।

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे यूपीडा के ही नियंत्रणाधीन है। उन्होंने कहा कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे मात्र 302 किलोमीटर का है और इस सडक से सफर करने की स्थिति में धन की बचत होती है क्योंकि ईंधन की खपत कम है। इसके अलावा समय भी काफी कम लगता है। सरकारी अधिसूचना में भारत के राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, सांसद, विधायक, नयायाधीशों और पद्म पुरस्कार से स मानित लोगों को टोल टैक्स देने से मुक्त रखा गया है। टोल टैक्स लेने का फैसला पिछले सप्ताह एक उच्चस्तरीय बैठक में किया गया।

भारतीय वायुसेना ने एक्सप्रेसवे पर स्थित हवाई पट्टी पर दो बार‘लैंडिंग’ और ‘टेक ऑफ’ का अयास किया है। इस पर लडाकू जेट, मिराज, सुखोई 30, मिग और सी-130 जे सुपर हरक्यूलिस जैसे विमान उतरे हैं और यहां से उडान भी भरी है। यात्रियों की सुरक्षा के लिए यूपीडा ने एक्सप्रेसवे के इर्द गिर्द नौ थाने बनाने का फैसला किया। एक्सप्रेसवे पर ‘डायल-100’के पुलिस वाहन और एंबुलेंस भी तैनात रहेंगी ताकि यात्रा आरामदायक और सुरक्षित हो। यूपीडा रात में चलने वाले ट्रक एवं बस ड्राइवरों को चाय उपलब्ध कराएगा। इसका मकसद यही है कि यात्रा के दौरान वे लोग जागे रहें। 


 




अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन