एक दिन में 86 हजार से ज्यादा बिजली कनेक्शन देकर उर्जा विभाग ने कायम किया रिकार्ड

  • एक दिन में 86 हजार से ज्यादा बिजली कनेक्शन देकर उर्जा विभाग ने कायम किया रिकार्ड
You Are Here
एक दिन में 86 हजार से ज्यादा बिजली कनेक्शन देकर उर्जा विभाग ने कायम किया रिकार्डएक दिन में 86 हजार से ज्यादा बिजली कनेक्शन देकर उर्जा विभाग ने कायम किया रिकार्डएक दिन में 86 हजार से ज्यादा बिजली कनेक्शन देकर उर्जा विभाग ने कायम किया रिकार्ड

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार हर नागरिक को बिजली उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है और राज्य का कोई गांव अंधेरे में नहीं रहेगा। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा कि योगी सरकार में उत्तर प्रदेश का कोई भी गांव अंधेरे में नहीं रहेगा। प्रदेश का उर्जा विभाग प्रत्येक घर को बिजली मुहैया कराने के लिए कैम्प लगाकर बिजली कनेक्शन दे रहा है और बीपीएल परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देकर सरकार ने इस संबंध में अपनी मंशा जाहिर कर दी है।

उन्होंने कहा कि बीपीएल (गरीबी रेखा के नीचे) परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन देने के लिए सरकार ने रविवार को राज्य भर में सभी विधानसभा क्षेत्रों में 624 स्थानों पर कैम्प लगाए गए। 23 जुलाई को लगे इन मेगा कैम्पों में बीपीएल श्रेणी के उपभोक्ताओं को 58,596 और अन्य उपभोक्ताओं को सस्ते व आसान किश्तों पर 27,505 कनेक्शन दिए गए। शुक्ला ने कहा कि एक दिन में 86,101 उपभोक्ताओं को बिजली कनेक्शन देकर उर्जा विभाग ने रिकार्ड कायम किया है।

प्रवक्ता ने कहा कि सुगम संयोजन के तहत प्रॉपर्टी के कागज न होने पर वोटर आईडी या आधार कार्ड पर भी प्रीपेड कनेक्शन दिए जाने की सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि ग्रामीण उपभोक्ताओं के लिए 80 रुपए के भुगतान पर एक किलोवाट का कनेक्शन उपलब्ध है और इसके बाद 75 रुपए की 16 आसान किश्तें देनी होंगी। वहीं शहरी उपभोक्ताओं के लिए एक किलोवाट का कनेक्शन 155 रुपए के प्रारंभिक भुगतान और 100 रुपए की 16 किश्तें देनी होगी।

शुक्ला ने कहा कि इससे पहले उर्जा विभाग सरचार्ज माफ कर चुका है। उत्तर प्रदेश के ग्रामीण अंचलों में पहली बार बिजली इतने व्यापक पैमाने पर पहुंची है। ग्रामीणों को इस सरकार में महसूस हुआ कि यह उनकी सरकार है जो उनके बारे में भी चिंता करती है। पहले गांवों को बिजली मयस्सर नहीं थी।  उन्होंने कहा कि इस सरकार ने वीआईपी कल्चर भी समाप्त किया है। अब सभी क्षेत्रों को समान रूप से बिजली दी जा रही है।

शुक्ला ने कहा कि महानगरों और जिला मुख्यालयों को 24 घंटे, तहसील मुख्यालयों को 20 और गांवों को 20 घंटे बिजली देने का काम योगी सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि गत सरकारों में गांवों में खराब ट्रांसफार्मर बदलने के लिए वहां के लोग चंदा जुटाते थे। वह भी महीने-छह महीने में काफी मशक्कत के बाद ट्रांसफार्मर बदले जाते थे। अब भाजपा की मौजूदा सरकार ने शहरी क्षेत्र में 24 घंटे में व ग्रामीण क्षेत्र में 48 घंटे में ट्रांसफार्मर बदलने के निर्देश दिए हैं जनता इस बदलाव को महसूस कर रही है।



UP SAMACHAR की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!