Subscribe Now!

नहीं थम रहा झोलाझाप डॉक्टरों का कहर, महोबा के एक और मरीज ने गंवाई जान

You Are Here
नहीं थम रहा झोलाझाप डॉक्टरों का कहर, महोबा के एक और मरीज ने गंवाई जाननहीं थम रहा झोलाझाप डॉक्टरों का कहर, महोबा के एक और मरीज ने गंवाई जाननहीं थम रहा झोलाझाप डॉक्टरों का कहर, महोबा के एक और मरीज ने गंवाई जान

महोबाः उत्तर प्रदेश में झोलाझाप डॉक्टरों द्वारा मरीजों की जान जाने का मामला थम नहीं रहा। आए दिन झोलाझाप डॉक्टरों की लापरवाही के चलते मरीजों को अपनी जान गंवानी पड़ रही हैं। इन सबके बावजूद प्रशासन अपनी नींद से नहीं जाग रहा। इसी कड़ी में ताजा मामला महोबा का है। जहां सर्दी, जुकाम से पीड़ित मरीज को डॉक्टर ने न-जाने कैसा इंजेक्शन लगा दिया कि मरीज हमेशा के लिए मौत की नींद सो गया। 
PunjabKesari
जानिए पूरा मामला 
जानकारी के अनुसार मामला महोबा के अजनर थामा क्षेत्र का है। जहां का निवासी  22 वर्षीय बाबूलाल सर्दी-जुकाम से पीड़ित था। जिस कारण वह इलाज के लिए झोलाझाप डॉक्टर के पास चला गया। डॉक्टर ने उसका सर्दी-जुकाम ठीक करने के लिए एक इंजेक्शन लगा दिया। 
PunjabKesari
डॉक्टर ने किया मृत घोषित 
जिसके बाद अचानक से मरीज की तबीयत बिगड़ने लगी। परिजन आनन-फानन में मरीज को मध्यप्रदेश के शहर छतरपुर ले गए। लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। परिजन जब मरीज को लेकर अस्पताल पहुंचे, वहां के डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। 

दोषी पाए जाने पर होगी कार्रवाई-सीएमओ
वहीं पूरे मामले में सीएमओ सफाई देते नजर आए। उन्होंने कहा कि आरोपी डॉक्टर के दोषी पाए जाने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथ ही समय-समय पर अभियान चला कर झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्रवाई की बात कही है। 

गौरतलब है कि बीते दिनों भी यूपी के उन्नाव जिले से एक बेहद चिंताजनक मामला सामने आया था। जहां बांगरमऊ तहसील के कुछ गांवों में साइकिल पर घूमकर एक झोलाछाप डॉक्टर ने लोगों का इलाज किया। एक ही इंजेक्शन का कथित तौर पर बार-बार इस्तेमाल करने से करीब 20 लोग एचआईवी संक्रमित हो गए। झोलाछाप से इलाज करवाने वाले कुछ और लोगों में एचआईवी संक्रमण के लक्षण दिखे हैं। इसकी पुष्टि के लिए कई जांचें करवाई जा रही हैं।



UP CRIME NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन