बच्चों को पढ़ाई में दिलचस्पी दिलाने के लिए प्रि‍ंसि‍पल ने बनवाई अनोखी ‘क्लास’

You Are Here
बच्चों को पढ़ाई में दिलचस्पी दिलाने के लिए प्रि‍ंसि‍पल ने बनवाई अनोखी ‘क्लास’बच्चों को पढ़ाई में दिलचस्पी दिलाने के लिए प्रि‍ंसि‍पल ने बनवाई अनोखी ‘क्लास’बच्चों को पढ़ाई में दिलचस्पी दिलाने के लिए प्रि‍ंसि‍पल ने बनवाई अनोखी ‘क्लास’

सोनभद्र: सोनभद्र में प्राथमिक विद्यालय के प्रि‍ंसि‍पल ने बच्चों को पढ़ाई में दिलचस्पी दिलाने के लिए एक अनोखी पहल की है। दरअसल प्रि‍ंसि‍पल ने कक्षा को ट्रेन और बस का रूप दिया है। जिसकी वजह से अब पढ़ने आने वाले बच्चों की संख्या 10 से बढ़कर 100 हो गई है।
PunjabKesari
क्या कहना है प्रिंसिपल का?
प्रिंसिपल राजकुमार ने बताया कि जब मैं इंटर में था तब ही पिता की मौत हो गई थी। जिसके बाद घर और 2 बहनों की जिम्मेदारी आ गई। ट्यूशन पढ़ाकर जो पैसे अाए उससे ग्रैजुएशन में एडमिशन लिया, लेकिन रोज कॉलेज जाने के लिए ट्रेन या बस के पैसे नहीं होते थे। दोस्तों से नोट्स लेकर पढ़ाई की और 2005 में बीटीसी से टीचर के लिए सि‍लेक्शन हुआ।
PunjabKesari
कक्षा को ट्रेन और बस का दिया रुप
2012 में जब प्राथमि‍क विद्यायल में अप्वाइंट हुआ तो बहुत कम बच्चे आते थे और किसी का भी पढ़ाई में दिलचस्पी नहीं थी। मां-बाप भी खुद बच्चों को नहीं पढ़ने भेजते थे। बच्चों में स्कूल आने और पढ़ाई में दिलचस्पी बढ़ाने के लिए मैंने स्कूल और कक्षा को ट्रेन और बस का रुप दे दिया है।
PunjabKesari
बच्चों की संख्या में हुई बढ़ोतरी
इसका नतीजा ये हुआ कि कभी स्कूल में 10 से 15 ही बच्चे मुश्किल से आते थे, लेकिन अब करीब 100 बच्चे पढ़ने आते हैं। एक्सप्रेस स्कूल के 3 कक्षा को एस-1, एस -2 और आगे इंजन का लुक दिया गया है। एक कक्षा को बस की तरह तैयार किया गया है। कक्षा में ट्रेन की तरह सिटिंग व्यवस्था भी की गई है। हर कक्षा आधुनिक रुप दिया जा रहा है। 



UP HINDI NEWS की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!