Subscribe Now!

केंद्र सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए नए बाजारों की तलाश कर रही है: प्रभु

  • केंद्र सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए नए बाजारों की तलाश कर रही है: प्रभु
You Are Here
केंद्र सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए नए बाजारों की तलाश कर रही है: प्रभुकेंद्र सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए नए बाजारों की तलाश कर रही है: प्रभुकेंद्र सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए नए बाजारों की तलाश कर रही है: प्रभु

नोएडाः केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा है कि केंद्र सरकार निर्यात को बढ़ावा देने के लिए दुनिया में नए बाजारों की तलाश कर रही है और इसके लिए निजी क्षेत्रों का भी सहयोग ले रही है।

प्रभु ने कहा कि किसानों को उनकी उपज तथा उद्यमियों के उत्पादन को उचित बाजार मिल सके इसके लिए सरकार प्रयासरत है। केंद्रीय मंत्री ने यह बात गुरुवार इंडियन एक्सपो मार्ट में ट्रेड प्रमोशन काउंसिल ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित ‘इंडस फूड’ प्रदर्शनी के उद्घाटन अवसर पर कही।

इसमें लगभग 43 देशों के 40 से ज्यादा कारोबारी हिस्सा ले रहे हैं। वहीं देश के 12 राज्यों के कारोबारी भी इस मेगा ट्रेड शो में हिस्सा ले रहे हैं। केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने इस शो के आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह शुरूआत है। इससे निर्यातकों को एक अच्छा प्लेटफार्म मिलेगा। उन्होंने कहा कि सरकार एक्सपोर्ट मार्केटिंग को बढ़ावा देने का कार्य कर रही है। इसके लिए सरकार नए बाजार तलाश रही है। भारत के निर्यात नीति के बारे में किसानों व उद्यमियों को जानकारी मिल सके इसके लिए सरकार एग्रो एक्सपर्ट पॉलिसी बना रही है।

उन्होंने कहा कि भारत के उत्पादों की मांग दुनियाभर में है और इसके लिए नए बाजार तलाशे जा रहे हैं। इस मौके पर वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के संयुक्त सचिव एस सारंगी ने कहा कि भारत दूध के उत्पादन में नंबर वन है। कई फलों, सब्जियों के उत्पादन में भी भारत का स्थान पहला या दूसरा है। लेकिन भारत में सब्जी और फल की बर्बादी काफी होती है। मंत्रालय इनकी बर्बादी को रोकते हुए उनमें वैल्यू एडीशन कर उनके निर्यात की नीति बना रहा है।

उन्होंने कहा कि भविष्य में हम केला, अनार व आम जैसे फलों के साथ कई हरी सब्जियों के निर्यात में भी बढ़ोतरी के लिए कलस्टर विकसित कर रहे हैं। इस अवसर पर फूड एंड सेफ्टी स्टैंडर्ड अथॉरिटी के सीईओ पवन अग्रवाल, मोहित सिंगला, डीके सिंह सहित वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय के कई अधिकारी मौजूद थे।  
 




अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन