CM योगी बोले- सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष प्रतिबद्ध होकर कार्य करें तो समस्याएं दूर होंगी

Edited By Mamta Yadav, Updated: 21 May, 2022 11:44 AM

if the ruling party and the opposition work with commitment then the problems

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को यहां उत्तर प्रदेश विधान सभा में ई-विधान व्यवस्था एवं 18वीं विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों के प्रबोधन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रतिपक्ष के आलोचनात्मक प्रश्न शासन...

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष प्रतिबद्ध होकर जनता के लिए कार्य करें, तो बहुत सी समस्याओं का समाधान होता है। योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को यहां उत्तर प्रदेश विधान सभा में ई-विधान व्यवस्था एवं 18वीं विधानसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों के प्रबोधन कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रतिपक्ष के आलोचनात्मक प्रश्न शासन को जनता के लिए अनेक महत्वपूर्ण कार्य करने में मदद करते हैं।

योगी ने कहा कि सत्ता पक्ष व प्रतिपक्ष प्रतिबद्ध होकर जनता के लिए कार्य करें, तो बहुत सी समस्याओं का समाधान होता है। उल्लेखनीय है कि लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शुक्रवार को यहां उत्तर प्रदेश विधान सभा में ई-विधान व्यवस्था एवं 18वीं विधान सभा के नवनिर्वाचित सदस्यों के प्रबोधन कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। उप्र की 403 सदस्यों वाली विधानसभा के सत्र की शुरुआत सोमवार से हो रही है और यह पहली बार होगा जब सत्र की कार्यवाही पेपरलेस (कागज विहीन) होगी। योगी ने अपने संबोधन में कहा कि विधानसभा के निर्वाचित सदस्य प्रदेश की लगभग 25 करोड़ जनता का प्रतिनिधित्व करते हैं। शासन की योजनाओं को बनाने तथा जनता तक पहुंचाने में इनकी बड़ी भूमिका है।

उन्होंने प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव के कार्यक्रम में सम्मिलित होने तथा ई-विधान लागू करने के लिए शुभेच्छा व्यक्त करने हेतु धन्यवाद देते हुए विश्वास व्यक्त किया कि इस तकनीक की मदद से प्रदेश की 25 करोड़ जनता के हितों के लिए मिलकर कार्य कर पाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश विधानसभा में विगत पांच सालों में अनेक कार्यक्रम हुए हैं। उन्होंने कहा कि दो वर्ष पूर्व पेपर मुक्त बजट प्रस्तुत किया गया था, लेकिन आज नेशनल ई-विधान एप्लीकेशन का सपना साकार हुआ है।

योगी ने कहा कि इससे सदस्यों के लिए कार्य करना सरल और सहज होगा। अब उन्हें बड़ा बैग लेकर विधान सभा नहीं आना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि तकनीक प्रदर्शन की वस्तु नहीं है, आम जनता हेतु इसे उपयोगी बनाने के लिए प्रशिक्षित होकर सकारात्मक रूप से उपयोग करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि विधानसभा में 128 नये सदस्य निर्वाचित होकर आये हैं, तकनीक से भागना नहीं, उसे अंगीकार करना चाहिए, लेकिन तकनीक का पिछलग्गू भी नहीं बनना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज हम देश और दुनिया की सबसे बड़ी विधानसभा को ‘ई-विधान' के रूप में परिवर्तित कर रहे हैं।

Related Story

Ireland

India

Match will be start at 28 Jun,2022 10:30 PM

img title img title

Everyday news at your fingertips

Try the premium service

Subscribe Now!