अमरोहाः मस्जिद में नमाज पढ़ने पर रोक के बाद तनाव, पलायन पर मज़बूर मुस्लिम

You Are Here
अमरोहाः मस्जिद में नमाज पढ़ने पर रोक के बाद तनाव, पलायन पर मज़बूर मुस्लिमअमरोहाः मस्जिद में नमाज पढ़ने पर रोक के बाद तनाव, पलायन पर मज़बूर मुस्लिमअमरोहाः मस्जिद में नमाज पढ़ने पर रोक के बाद तनाव, पलायन पर मज़बूर मुस्लिम

मेरठ/अमरोहाः सूबे की योगी सरकार की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही है। अभी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में जातीय हिंसा की आग ठंडी भी नहीं हुई है कि अमरोहा में सांप्रदायिक तनाव की खबरें सामने आ रही हैं। मेरठ जिले के अमरोहा जनपद में एक मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोकना तनाव का कारण बन गया है। इसके विरोध में मुस्लिम समाज के लोग गांव से पलायन करने की बात कर रहे है। इस पूरे विवाद के पीछे एक हिंदूवादी संगठन से जुड़े किसान नेता का नाम सामने आ रहा है।

मस्जिद में नमाज पढने को लेकर रोक
दरअसल मामला अमरोहा के सैदनगली थाना इलाके के सकतपुर गांव का है। जहां के भारतीय किसान संघ के संगठन मंत्री सुखरामपाल राणा ने गांव में मौजूद एक मस्जिद के विरोध में एक बैठक बुलाई थी। आरोप है कि बैठक में किसान नेता ने मस्जिद और गांव में मौजूद मुस्लिम समाज के विरोध में नारेबाजी भी की थी।

मुस्लिम गांव छोड़ने पर मज़बूर
वहीं गांव के लोग मस्जिद में नमाज पढ़ने से रोकने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे हैं। गांव में मौजूद मुस्लिम समाज के लोगों ने गांव से पलायन की बात भी कही है। 
अमरोहा के रहने वाले एक मुसलमान शख्स ने  बात करते हुए कहा कि ”हमें मस्जिद में नमाज नहीं पढ़ने दी गई। मस्जिद से बाहर निकाल दिया गया और अब वहां पुलिस बैठी है। अब हालात ऐसे हैं कि हम पलायन कर जाएंगे। ये हमारी मजबूरी है। लोग जीने नहीं दे रहे। पुलिस वाले सरकार का साथ दे रहे हैं।”

जानिए क्या कहना है पुलिस का
इस मामले के संबंध में एएसपी ब्रजेश सिंह ने बताया कि 25 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। मौके पर पीएसी के साथ पुलिस के जवान तैनात कर दिए गए है। हर स्थिति पर नजर रखी जा रही है। वहीं किसान नेता सुखरामपाल राणा ने अपने ऊपर लगे सभी आरोप खारिज कर दिए। उन्होंने देर रात 3 मुस्लिम परिवारों के खिलाफ भी मामला दर्ज कराया है।

UP News की अन्य न्यूज पढऩे के लिए Facebook और Twitter पर फॉलो करें-



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!